साइलेंट किलरः गर्मियों में चलने वाली लू को लेकर न बरतें लापरवाही

Report -Madan Sarswat Mathura

मथुरा। विगत दिनों में जनपद में तापमान में वृद्धि तेजी से देखी गई हैं तथा तापमान ने 40 डिग्री सेल्सियस का स्तर छू लिया हैं। मंगलवार को तापमान जहां 12 बजे 42 डिग्री था वहीं 2 बजे के बाद मौसम में बदलाव होने के कारण इसमें 2 डिग्री की गिरावट आ गई। तापमान 40 डिग्री पर पहुंच गया। संभावना है कि अगले दो दिन मौसम इसी तरह से रहेगा। जिला प्रशासन ने मौसम विभाग की ओर से जारी की गयी एडवाइजरी में में मार्च से मई 2023 के मध्य सामान्य से अधिक तापमान होने का पूर्वानुमान व्यक्त किया गया हैं। हीट वेव (लू) असामान्य रूप से उच्चतम तापमान की वह अवधि है जब तापमान सामान्य तापमान से अधिक दर्ज किया जाता है। यह सामान्य तौर पर मार्च से जून माह के बीच होता है पर कुछ दुर्लभ परिस्थितियों में यह जुलाई तक भी बना रहता है। उच्च आर्द्रता तथा वायुमंडलीय परिस्थितियों के कारण उच्च तापमान लोगों को प्रतिकूल रूप से प्रभावित करता है, जिसके कारण शरीर में पानी की कमी ( डिहाइड्रेशन) व ऐंठन की शिकायत आती है और कभी कभी इसके कारण लोगों की मौत भी हो जाती है। हीटवेव (लू) को प्राकृतिक आपदाओं के अन्तर्गत जल एवं जलवायु सम्बन्धी (हाइड्रो मेट्रोलॉजिकल) आपदा की श्रेणी में साइलेंट किलर के रूप में भी जाना जाता है। हीट वेव (लू) से वृध, बच्चे, गर्भवती महिलाएं बीमार मजदूर झोपड़पट्टी में रहने वाले गरीब, दुर्बल एवं निराश्रित लोग अधिक प्रभावित होते हैं। इसके अतिरिक्त हीट वेव (लू) ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों, जंगलों, जल संसाधनों, कृषि एवं पशुपालन, स्वास्थ्य तथा विद्युत आपूर्ति आदि को भी प्रभावित करता है। उक्त के दृष्टिगत आगामी दिवसों में जनपद में तापमान में और वृद्धि देखी जा सकती हैं तथा यह अति आवश्यक हैं की हम सब लू से बचाव के उपायों को अपना कर लू से होने वाली हानि से बचाव करे।

Latest Articles