परिवहन मंत्री और ओमप्रकाश की मुलाकात से बढ़ी सियासी हलचल

परिवहन मंत्री और ओमप्रकाश की मुलाकात से बढ़ी सियासी हलचल

By:-Amitabh Chaubey

लखनऊ(आजाद पत्र):- उत्तर प्रदेश में शहरी निकाय चुनाव का इंतजार अब खत्म होने वाला है|इसी बिच बृहस्पतिवार को सुबह  उत्तर प्रदेश के परिवहन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) दयाशंकर सिंह और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर के बीच हुई मुलाकात से सियासी हलचल बढ़ गई है।

आप को बता दे की राजभर ने ऐलान किया था की वो अकेले निकाय चुनाव लड़ेगे जिस के बाद जहा परिवहन मंत्री से मुलाकात को अहम माना जा रहा है। वहीं, सूत्रों से मिलि जानकारी के अनुसार दोनों दल लोकसभा चुनाव से पहले सेमीफाइनल के तौर निकाय चुनाव मिलकर लड़ना चाहते हैं। इन्ही अटकलों को लेकर परिवहन मंत्री, राजभर से मिलने पहुंचे थे कि अगर कोई बात बनती है तो एक साथ मिल कर चुनाव लड़ा जा सकता है।

वही मीडिया के सवालों पर परिवहन मंत्री और राजभर दोनों का कहना है कि ये मुलाकात सिर्फ औपचारिक थी। इसका कोई सियासी मतलब नहीं निकाला जाना चाहिए। मीडिया से राजभर ने यह भी कहा कि हम तो चाहते हैं कि निकाय चुनाव साथ मिल कर लड़ा जाए। इस संबंध में भाजपा नेताओं से कई बार बात भी हुई थी, लेकिन अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया जा सका है। राजभर ने आगे कहा कि अब निकाय चुनाव की घोषणा जल्द होने वाली है, इसलिए सुभासपा अपने दम पर निकाय चुनाव में उतरेगी। जबकि सूत्रों ने बताया कि राजभर की अभी जल्दी ही केन्द्रीय नेतृत्व से मुलाकात हुई और तय हुआ है कि कर्नाटक में विधानसभा चुनाव के बाद इस मुद्दे पर अंतिम निर्णय लिया जाएगा।

ओमप्रकाश राजभर से मिलने के बाद दयाशंकर सिंह ने कहा कि वैचारिक रूप से हम लोग एक  साथ हैं और नजदीक भी। दयाशंकर सिंह ने कहा कि राजभर गरीबों, वंचितों व मजदूरों की लड़ाई लड़ते हैं जिसे प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री पूरा करते हैं।

दयाशंकर सिंह ने आगे कहा कि फिलहाल निकाय चुनाव भाजपा अपने दम पर लडेंगी। लोकसभा चुनाव आएगा तो देखा जाएगा। वही राजभर से मुलाकात को उन्होंने शिष्टाचार मुलाकात बताया और कहा कि इसका कोई सियासी मतलब नहीं निकाला जाना चाहिए। अभी कुछ दिन पहले  राजभर ने भी दयाशंकर सिंह के कार्यालय जाकर उन से मुलाकात की थी।

Latest Articles