More
    Homeजनपदखन्ड विकास अधिकारी पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए ग्राम प्रधानों ने...

    खन्ड विकास अधिकारी पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए ग्राम प्रधानों ने खोला मोर्चा।

    दोहरीघाट,मऊ- जनपद के दोहरीघाट ब्लॉक में विवाद खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है आए दिन ग्राम प्रधान धरना प्रदर्शन, अनशन एवं अधिकारियों को ज्ञापन दे रहे हैं। ज्ञात हो कि विगत दिनों टीए के ट्रांसफर को लेकर ग्राम प्रधान लामबंद हुए थे, ग्राम प्रधानों का कहना था कि गांव में विकास कराने की समस्त जिम्मेदारी एवं जवाबदेही ग्राम प्रधान की होती है। अतः ग्राम प्रधान जब अपने हिसाब से विकास कार्य पारदर्शी तरीके से कराना चाहता है तो भ्रष्ट अधिकारी उसको कमीशनखोरी के चक्कर में सही काम नहीं होने देते और जब जांच होती है, तो उसमें ग्राम प्रधान को बदनाम किया जाता है, जबकि अधिकारियों के कमीशन का कोई हिसाब नहीं होता है। ज्ञात हो कि विगत दिनों इन्हीं सब बातों को लेकर ब्लॉक में तैनात टीए के खिलाफ ग्राम प्रधान लामबंद होकर प्रदर्शन किए एवं जिलाधिकारी को ज्ञापन दिया था। जिसमें कुछ प्रधानों का कहना था कि हम लोग इनके साथ काम नहीं कर पाएंगे, कारण यह बहुत पैसा मांगते हैं। और न देने पर जांच कराने की धमकी देते हैं। बताते चलें कि इस गतिरोध को देखते हुए टीए संजय राय का ट्रांसफर भी हो गया था, परंतु अपने रसूख के चलते सुबह का हुआ ट्रांसफर शाम को वह कैंसिल करा लिए। इनके इस कार्य में खंड विकास अधिकारी विजय सिंह भी कहीं ना कहीं शामिल दिख रहे हैं। क्योंकि जिन ग्राम प्रधानों ने इनका विरोध किया था, उन्हीं ग्राम प्रधानों के गांव में पुनः इसी टीए की ड्यूटी लगा दी। जिस पर ग्राम प्रधान भड़क उठे एवं वीडियो को चेतावनी दी कि यदि वह अपने कार्य में पारदर्शिता नहीं लाते हैं तो इसके खिलाफ लामबंद होकर ग्राम प्रधान संगठन ब्लॉक मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन एवं अनशन करने के लिए बाध्य होगा। मजेदार बात यह है कि यह प्रकरण जनपद के आला अधिकारियों को भी पता है परंतु वह भी मौन साधे हुए हैं। इधर ग्राम प्रधान संगठन भी आर-पार लड़ाई के मूड में दिख रहा है। ग्राम प्रधानों ने मंगलवार को ब्लाक कार्यालय का घेराव कर खण्ड विकास अधिकारी पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए जमकर नारेबाजी की और छः सूत्रिय ज्ञापन खण्ड विकास अधिकारी की अनुपस्थिति में लिपिक अखिलानंद चतुर्वेदी को सौंपा। प्रथम आरोप में ब्लाक के अधिकारी एवं कर्मचारियों के द्वारा ब्लाक में प्रधानों के साथ हो रहे दुर्व्यवहार, ब्लाक में अधिकारियों के द्वारा कमीशन खोरी, अधिकारियों एवं कर्मचारियों के मनमाने रवैए से ग्राम पंचायतों के विकास कार्यों में बाधा, ग्राम पंचायतों में सफ़ाई कर्मियों द्वारा सफाई कार्य नहीं करने सम्बंन्धित मामले, सार्वजनिक शौचालय की समूहों से सम्बन्धित मामले एवं टीए द्वारा प्रधानों का सहयोग नहीं करने के सम्बन्ध में ज्ञापन सौंपा साथ ही प्रधानों द्वारा चेतावनी दी गई की एक सप्ताह के भीतर सम्बंधित मामले पर सुनवाई नहीं किया गया तो सभी प्रधान आने वाले 18 तारीख को ब्लाक मुख्यालय का घेराव कर धरना प्रदर्शन को बाध्य होंगे। ब्लाक घेराव के इस अवसर पर प्रधान संघ के उपाध्यक्ष दिग्विजय यादव, महामंत्री रामजतन, कमलेश यादव, तमन्ना परवीन,बब्बन चौधरी,अजय राय सोनू, उषा यादव, आन्द्रिका, रितू भारती, अन्नु देवी, कमलेश सोनकर सहित कई अन्य गांवों के प्रधान घेराव में शामिल रहे।।

    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments