More
    Homeराजनीतिपत्रकारों के खिलाफ एससी/एसटी का मुकदमा दर्ज कराना भाजपा विधायक के गले...

    पत्रकारों के खिलाफ एससी/एसटी का मुकदमा दर्ज कराना भाजपा विधायक के गले का फांस बना

    पत्रकारों के पक्ष में अधिवक्ता भी उतरे सड़क पर

    अधिवक्ता आज करेंगे एक दिवसीय हड़ताल,होगा न्यायिक कार्यों का वहिष्कार

    तारकेश्वर सिंह
    चकिया। चुनावी वर्ष में न्यूज पोर्टल के दो पत्रकारों के खिलाफ एससी/एसटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कराने का मामला अब भाजपा विधायक शारदा प्रसाद के गले की फांस बनता जा रहा है। विधायक और उनके प्रतिनिधि अश्वनी दुबे को लेकर उक्त मामला तूल पकड़ने लगा है। इस मामले को लेकर कई जगहों से कड़ी निंदा होने लगी है। इससे बीजेपी सरकार की भी किरकिरी हो रही है। पत्रकार संगठनो ने विधायक के खिलाफ पहले ही आंदोलन छेड़ रखा है। अब इस आंदोलन में अधिवक्ता भी उतर आये हैं। चकिया बार एसोसिएशन ने एक दिवसीय हड़ताल की घोषणा कर दिया है।अधिवक्ता घटना के विरोध में शुक्रवार को न्यायिक कार्य से विरत रहेंगे। बताते चलें कि पोर्टल पर खबर लने से नाराज भाजपा विधायक शारदा प्रसाद ने दो पत्रकारों के खिलाफ चकिया कोतवाली में एससी/एसटी एक्ट में मुकदमा दर्ज करवा दिया। कई ऐसे गंभीर मामलों में मुकदमा दर्ज करने से हीला हवाली कर मामले को रफा-दफा करवाने वाली चकिया पुलिस ने विधायक के दबाव में न सिर्फ मुकदमा दर्ज किया बल्कि पत्रकार कार्तिकेय पांडेय को घंटों हिरासत में भी रखा। गौरतलब है कि कुछ महीनों पहले एक जमीन से जुड़े मामले में गरीबों पर लाठी बरसाकर सुर्खियों में आए विधायक प्रतिनिधि अश्वनी दुबे तब तक कोतवाली में डटे रहे जब तक कि पुलिस ने मुकदमा नहीं लिख दिया। इसको लेकर पत्रकार पूरी तरह से उद्वेलित हैं।अब तो कई संगठन भी पीड़ित पत्रकारों के समर्थन में उतर आए हैं। ब्राह्मण समाज में भी इस घटना को लेकर व्यापक आक्रोश व्याप्त है जबकि चकिया बार एसोसिएशन ने एक दिवसीय हड़ताल के जरिए पत्रकारों को अपना समर्थन दिया है। अध्यक्ष श्यामनारायण सिंह ने प्रस्ताव पारित करते हुए इस आशय की घोषणा की। उन्होंने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो अधिवक्ता समाज सड़क पर भी उतरेगा।

    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments