More
    Homeअपराधनगरपालिका कर्मचारी को बदमाशों ने रॉड और फरसे से मारकर किया मरणासन्न

    नगरपालिका कर्मचारी को बदमाशों ने रॉड और फरसे से मारकर किया मरणासन्न

    आदित्य कुमार दीक्षित
    आजाद पत्र

    पडरौना, कुशीनगर : जिले के पडरौना नगरपालिका में कार्यरत एक कर्मचारी को जान से मारने की नीयत से उसके ऊपर बदमाशों द्वारा जानलेवा हमला करने का मामला प्रकाश में आया है, हमले में कर्मचारी बुरी तरह घायल हो गया और वह गोरखपुर स्थित एक प्राइवेट अस्पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रहा है। इस मामले में कर्मचारी के परिजनों ने थाना कोतवाली पडरौना में तहरीर देकर कार्यवाही की मांग की है।

    मिली जानकारी के मुताबिक पडरौना कोतवाली थानान्तर्गत सिधुआँ मिश्रौली निवासी रमेश गुप्ता पडरौना नगरपालिका परिषद में स्थायी कर्मचारी के रूप में कार्यरत हैं, वह अपने परिवार के साथ पडरौना में ही रहते हैं। प्राप्त जानकारी के मुताबिक बीते 12 सितम्बर को हिरनहां निवासी गुड्डू यादव द्वारा रमेश गुप्ता के मोबाइल पर कई बार फ़ोन करके इन्हें सुभाष चौक पडरौना पर बुलाया और वहां बुलाकर उन्हें दारू पिलाया फिर उन्हें किसी बहाने से गांव चलने के लिए बोला, जब वह अपने मोटरसाइकिल से गांव जाने लगे तो उन्हें गांव की तरफ जाने वाले मेन रोड से न ले जाकर परसौनी के पास पड़ने वाले कब्रिस्तान के रास्ते से लेकर जाने लगा जहां उसने रमेश गुप्ता के साथ को जान से मारने के लिए घात लगाकर पहले से ही रास्ते पर कुछ अज्ञात लोगों को रॉड और फरसा लेकर खड़ा कर रखा था, जैसे ही रमेश गुप्ता परसौनी स्थित कब्रिस्तान के पास पंहुचे कि वहां पहले से खड़े अज्ञात लोगों के साथ गुड्डू ने भी जान से मारने की नीयत से रॉड और फरसे से मेरे पति के ऊपर हमला बोल दिया, अंधेरा होने की वजह से फरसा उनके पैर पर लगा और उनके पैर का मांस बाहर आ गया, एक ही जगह पर कई बार रॉड और फरसे से वार करने की वजह से पैर का मांस बाहर की तरफ आ गया है।

    प्राप्त जानकारी के अनुसार घायल रमेश गुप्ता का शोर सुनकर राहगीर और अन्य लोग जब घटनास्थल की तरफ दौड़े तो हमलावर रमेश गुप्ता को मरणासन्न अवस्था मे छोड़कर फरार हो गए, रमेश गुप्ता को मरणासन्न देखकर ग्रामीणों ने उनके परिजनों को तथा डायल 112 को सूचना दी, सूचना पाकर मौके पर पँहुचीं डायल 112 और एम्बुलेंस ने घायल रमेश गुप्ता को जिला अस्पताल में भर्ती कराया, जहां से उनकी हालत नाजुक देखकर डॉक्टरों ने उन्हें मेडिकल कॉलेज के लिए रेफर कर दिया। मेडिकल कॉलेज में जाने के बाद वहां भी जब उनकी हालत में सुधार नहीं दिखा तो वहां के चिकित्सकों ने उन्हें लखनऊ केजीएमसी के लिए रेफर के दिया लेकिन परिजन अभी उनका इलाज गोरखपुर स्थित एक प्राइवेट अस्पताल में करा रहे हैं जहां रमेश गुप्ता की हालत अभी नाजुक बनी हुई है।

    इस मामले में घायल नगरपालिका कर्मचारी रमेश गुप्ता की पत्नी राजमती देवी ने पडरौना कोतवाली में तहरीर देकर आरोपियों के विरुद्ध कार्यवाही की मांग की है।

    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments