More
    Homeजनपदलिंग प्रशिक्षण सबसे बड़ा अपराध --सिविल जज

    लिंग प्रशिक्षण सबसे बड़ा अपराध –सिविल जज

    जितेन्द्र जायसवाल/पिंडरा

    पिंडरा।पिंडरा ब्लॉक क्षेत्र के करखियाव गांव में सोमवार को जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के तत्वाधान में विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया। शिविर की मुख्य अतिथि सिविल जज कुमुद लता त्रिपाठी थी। कार्यक्रम की शुरुआत स्वतंत्रता सेनानियों के स्मृति द्वार व स्वतंत्रता सेनानी स्वर्गीय नवरंगी देवी के प्रतिमा पर माल्यार्पण व दीपप्रज्वलन के साथ शुरू हुआ। इस दौरान सिविल जज ने विधि के प्रति साक्षरता का पाठ पढ़ाया। महिलाओं को शिक्षा, व्यवसाय में समान अधिकार के बारे में जानकारी दी। उन्होंने ने बताया कि आज के समय में निशुल्क विधिक सहायता महिलाओं, बच्चों, बुजुर्गों, दिव्यांगों, अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति व उन कैदियों को जिनका परिवार न हो उनके लिए फ्री में दिया जाता है। कानूनी अधिकार पर प्रकाश डालते हुए लोगों से प्रश्न पूछने को भी कहा। जिसपर गांव के निवासी अश्वनी सिंह ने भ्रूण हत्या रोकथाम पर प्रश्न किया। जिसका उत्तर देते हुए सिविल जज ने बताया कि भ्रूण हत्या तथा लिंग परीक्षण आज के समय में सबसे बड़ा अपराध है। जिससे लोगों को जागरूक किया जाना चाहिए। वही गांव के संतोष मौर्य तथा शशि कला ने महिलाओं के रोजगार के विषय में पूछा। जिससे उनका उत्थान हो सके। गांव के पूर्व प्रधान विक्रमादित्य सिंह ने तहसील परिसर में फैमिली कोर्ट को जल्द से जल्द चालू कराने की मांग की। कार्यक्रम के अंत में सिविल जज ने बताया की जो लोग बुजुर्गों की सेवा नहीं करते वो भी अपराध की श्रेणी में आते हैं। सीनियर सिटीजन का सेवा करना सबका कर्तव्य बनता है।संचालन आनंद मिश्र ने किया।
    इस दौरान सिविल जज रेखा श्रीवास्तव, इंस्पेक्टर फूलपुर सुनील सिंह, पूर्व प्रधान विक्रमादित्य सिंह , ग्राम प्रधान शशि कपूर कनौजिया, निहाला सिंह, अशोक सिंह, कमलाकांत दुबे, मारकंडे मौर्या, संतोष मौर्य, पप्पू मिश्रा, रामसकल कनौजिया, बेदी पाल, उर्मिला ,शशि कला ,समेत सैकड़ों लोग उपस्थित रहे।

    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments