More
    Homeउत्तर प्रदेशकाशी और अवध क्षेत्र के दौरे पर एमएलसी एके शर्मा

    काशी और अवध क्षेत्र के दौरे पर एमएलसी एके शर्मा

    विशेष संवाददाता।

    एमएलसी एके शर्मा अवध क्षेत्र के दो ज़िलों के दो दिवसीय भ्रमण के पहले चरण में 04 सितम्बर को सुल्तानपुर जिले के लम्भुआ में विधायक देवमणि द्विवेदी के घर जाकर उनके पिताजी के निधन पर अपनी शोक संवेदना व्यक्त किये एवं उनके पूरे परिवार का ढांढस बंधाया।

    उसके बाद उन्होंने सुल्तानपुर में जिला भाजपा कार्यालय पर भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं एवं नेताओं से मुलाकात कर संगठनात्मक परिचर्चा करते हुए 2022 में पुनः भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनाने की मुहिम में जुट जाने का आग्रह कार्यकर्ताओं किया।
    पार्टी पदाधिकारियों को सम्बोधित करते हुए ए० के० शर्मा ने कहा कि मैं बहुत सौभाग्यशाली हूँ जो मुझे एक साथ पाँच पुर्व जिलाध्यक्षगण एवं वर्तमान जिलाध्यक्ष समेत अनेकों वरिष्ठ नेताओं तथा कार्यकर्ताओं का आशीर्वाद मिल रहा है।

    यह कई पीढ़ियों का मेल है जो बहुत ही बड़ी बात है। एक अधिकारी से नेता बनने के बाद भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने मुझे जो स्नेह एवं आशीर्वाद दिया है, वह अतुलनीय है।
    कार्यकर्ता बूथ स्तर पर कमेटियों का गठन करने के बाद उसका सत्यापन तक करते हैं तब जाकर संगठन मजबूत होता है, ऐसे देवतुल्य कार्यकर्ताओं का नमन करता हूँ।
    कोरोना काल में जब मैं बनारस में इस महामारी में लोगों के बीच दवाएँ बांट रहा था, ऑक्सीजन कंस्ट्रेटरर बांट रहा था तो उसी वक्त सुल्तानपुर में स्वास्थ्य से जुड़ी सामग्रियों को भिजवाने का कार्य किया।

    मैं इसी सुल्तानपुर के पास के इलाहाबाद विश्वविद्यालय का छात्र रहा हूँ, छात्र जीवन में मेरे कई मित्र सुल्तानपुर के रहे इसलिए सुल्तानपुर मेरे लिए नया नहीं है।
    पिछले 20-30 सालों में सूबे का जितना विकास होना चाहिए था उतना नहीं हो पाया है। भारतीय जनता पार्टी की सरकार बिना भेदभाव, जातिवाद, क्षेत्रवाद के जनहित को ध्यान में रहकर कार्य करती है। माननीय नरेन्द्र मोदी जी के साथ मैं लगभग 20 वर्षों तक कार्य किया हूँ, वहां योजनाओं का संचालन जनहित में हुआ करता है न कि पार्टीहित अथवा जातिहित में।
    प्रदेश में प्रतिमाएँ तो बनी हैं लेकिन वहां तक जाने के लिए, आमजन के उपयोग के लिए सही रास्ते नहीं बने हैं। जब मैं गुजरात में था तो वहां पीने के लिए पानी नहीं मिला करता था, पशुओं के लिए चारा नहीं मिलता था वहां मैंने सरकार के सहयोग से पानी की किल्लत को पूरे गुजरात प्रदेश से दूर किया लेकिन जब मैं अपने घर अपने राज्य में आया तो यहां के रुके हुए विकास को देखकर हृदय विचलित हो जाता है।

    वर्तमान सरकार ने विकास की रुकी हुई गति तेज किया है, जो खाई वर्षों से बनी हुई थी उसे पाटने का कार्य वर्तमान सरकारों द्वारा किया जा रहा है।

    माननीय नरेन्द्र मोदी जी के मार्गदर्शन में ही पूरे देश का एवं उत्तर प्रदेश का समुचित विकास हो सकता है। वर्तमान की सरकार विकास के साथ-साथ रामराज्य की भी चिन्ता करती है। भारतीय जनता पार्टी की सरकार ही रामराज्य की स्थापना कर सकती है। आप सभी नेताओं एवं कार्यकर्ताओं के मेहनत तथा लगन से जनता से आशीर्वाद से पुनः भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनेगी। आप सभी लोगों ने मुझे जो सम्मान एवं स्नेह दिया उसके लिए सदैव आभारी रहूँगा।

    इसके बाद आमजन से मिलने के लिए रात्रि निवास सुल्तानपुर में ही किया। इस दरम्यान सुबह भी पार्टी के पदाधिकारियों एवं आमजन से मिलते रहे।

    05 सितम्बर को अरविन्द कुमार शर्मा ने सुबह हज़ारों वर्षों के देववृक्ष, पारिजात वृक्ष के दर्शन किया एवं वहां झाड़ू लगाकर स्वच्छता का संदेश देने का कार्य किया।
    उसके बाद सुलतानपुर से फ़ैज़ाबाद होते हुए अम्बेडकर नगर जनपद के लिए प्रस्थान कर गये जहां रास्ते मे दर्जनों स्थानों पर उनका भव्य स्वागत हुआ।

    तत्पश्चात् ए०के० शर्मा लोहिया भवन, हवाई पट्टी, अकबरपुर, अम्बेडकर नगर में प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन में सम्मिलित हुए। इसमें समाज के विभिन्न वर्ग के लोगों का जमावड़ा लगा रहा।
    कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए ए० के० शर्मा ने अपने व्यक्तव्य में कहा कि यहां उपस्थित सभी वर्गों की माताओं, बहनों एवं भाईयों को नमन करता हूँ।
    समाज के सभी वर्गों के लोगों का इतनी बड़ी संख्या में पूज्य लोहिया जी के नाम के हॉल में प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन में उपस्थित होना बहुत बड़ी बात है। बाल्मीकि जी का जो स्थान हमारे समाज मे है वह कहीं नहीं, उन्हीं के द्वारा लिखे गए रामायण को समाज के सभी वर्ग के लोग पढ़ते हैं एवं रामायण के प्रति श्रद्धा रखते हैं।
    सबरी के जूठे बेर भी भगवान श्रीराम ने खाया, निषादराज ने भगवान राम को नदी पार कराई इसके बदले जब माता सीता अपनी अँगूठी देने लगीं तो निषादराज ने उसे लेने से मना कर दिया।
    इस त्याग को नमन करता हूँ, वन्दन करता हूँ।

    उत्तर प्रदेश में विकास का जो हाल 30 साल पहले था वह वर्तमान में भी है। जिन अस्पतालों में आमजन के स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए कार्य होने थे वहां गाय, भैस घूम रहीं हैं। स्वाभाविक रूप से इससे ज्यादे दुःखदायक कुछ और नहीं हो सकता। पूर्ववर्ती सरकारों को जब दवाई, पढ़ाई की चिंता करनी चाहिए थी तो वह लोग सरकारी सुविधाएँ भी जातियों में बांट कर देते थे।

    हमें नारों एवं जातियों में उलझा कर हमारे विकास को अवरुद्ध किया गया। गरीब का दुश्मन को अमीर नहीं बल्कि उसकी बेबसी है जिसका किसी ने ध्यान नहीं दिया। मल्लाह का दुश्मन कोई महाजन नहीं बल्कि उसकी मजबूरी है। गोंड का दुश्मन कोई गुप्ता नहीं बल्कि उसकी जरूरत है।

    समाज के लोगों की एक दूसरे पर परस्पर निर्भरता है लेकिन कुछ राजनीतिक दलों ने अपने राजनैतिक स्वार्थ के चलते समाज को नारों एवं जातियों में विभाजित करके अपना व्यक्तिगत लाभ लिया। भाषण देकर, बयानबाजी करके समाज को बांटा तो जा सकता है लेकिन समाज को आगे ले जाने के लिए धरातल पर काम करना पड़ेगा और इसके लिए प्रबुद्ध वर्ग के लोगों को आगे आना पड़ेगा। अगर हम सभी ठान लें, निश्चय कर लें तो मात्र एक साल में परिवर्तन दिखने लगेगा।

    बात सड़क, बिजली, शिक्षा एवं रोजगार की होनी चाहिए न कि जाति की। माननीय नरेन्द्र मोदी जी ही एक मात्र ऐसे नेता हैं जिन्होंने सबके साथ, सबके विकास की बात की है न कि किसी एक जाति की। मैं यहां उपस्थित सभी जिलों के लोगों का नमन करता हूँ। मैं आपके बेटे, भाई, मित्र के रूप में मिलकर आप सभी के साथ काम करूँगा, आपके विकास के लिए काम करूँगा, इस वायदे के साथ विदा लेता हूँ।

    दोपहर बाद भाजपा जनपद कार्यालय अम्बेडकर नगर पर भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं एवं नेताओं से मुलाकात कर संगठनात्मक चर्चा करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी में कार्यकर्ता ही सर्वोपरि होते हैं।
    शाम को जे०डी०जे०वी० आनन्द महाविद्यालय, धनवारी, खेमापुर, अम्बेडकर नगर में शिक्षक सम्मान एवं युवा संवाद कार्यक्रम में सम्मिलित हुए उसके बाद शाम को लखनऊ वापस निकल गए।

    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments