लोगों को अमर शहीदों के त्याग बलिदान की गाथा से रूबरू कराना हमारा दायित्व

0
21

– अमृत महोत्सव कार्यक्रम का हुआ समापन
रतनपुरा, मऊ। अमृत महोत्सव कार्यक्रम का समापन पहसा में संपन्न हुआ। कुडसर गांव से प्रारंभ हुआ यह कार्यक्रम सभी 11 न्याय पंचायतों के विभिन्न गांव का भ्रमण करते हुए पहसा पहुंचा जहां राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विभाग प्रचारक प्रकाश जी ने अमृत महोत्सव पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए कहा कि जिन वीर सपूतों ने हमें आजादी दिलाई भारत माता को दासता की बेड़ियों से मुक्त किया हमें खुली हवा में सांस लेने का मौका दिया उन वीर शहीदों का नमन वंदन और अभिनंदन हमारा दायित्व है। भावी पीढ़ी को अमर शहीदों के त्याग बलिदान की गौरवमई गाथा से रूबरू कराना हमारा दायित्व है। हमें अपने आजादी के गौरवशाली इतिहास जो सबको साहस एवं ऊर्जा से भर देता है हर यूवा मन में अमर गाथा की सरिता को प्रवाहित कर राष्ट्रवाद की अलख जगाना और शहीदों के व्यक्तित्व से प्रेरणा लेना आज समय की सबसे बड़ी आवश्यकता है। विभाग प्रचारक ने कहा की पूर्वर्ती बलिया जनपद का हिस्सा रहा रतनपुरा विकास खंड आजादी के पहले आजाद होने वाले बलिया जनपद का हिस्सा रहा है। रतनपुरा के स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों ने जिस अद्भुत साहस एवं वीरता का परिचय दिया इतिहास के पन्नों में स्वर्ण अक्षरों में अंकित है। बलिया का स्वाधीनता संग्राम का इतिहास भारत ही नहीं बरन संपूर्ण विश्व में अपना एक अलग स्थान रखता है। हमें अपने शहीदों द्वारा जो आजादी का दीपक जलाया गया है उसकी ज्योति निरंतर जलती रहे दिन दूना रात चौगुना उसका प्रकाश बढ़ता रहे ऐसा हम सबको संकल्प लेना चाहिए। इस अवसर पर रसड़ा मठ के महंत कौशलेंद्र गिरी, सह जिला कार्यवाह वीरेंद्र, संपर्क प्रमुख ओम प्रकाश, अजय, समेत बड़ी संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित रहे। अंत में विभाग संघचालक राम प्रताप सिंह ने कार्यक्रम की सफलता के लिए सब के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here