More
    Homeजनपदपीडीडीयूनगर स्टेशन के यात्रियों को अब मिलेगी एयरपोर्ट जैसी विश्वस्तरीय सुविधाएं

    पीडीडीयूनगर स्टेशन के यात्रियों को अब मिलेगी एयरपोर्ट जैसी विश्वस्तरीय सुविधाएं

    सीतामढ़ी, बरौनी, दरभंगा, धनबाद स्टेशनों के यात्रियों को भी मिलेगी ऐसी सुविधाए

    तारकेश्वर सिंह
    पीडीडीयू नगर। रेलवे स्टेशन पुनर्विकास योजना के तहत पूर्व मध्य रेलवे के पूर्व में चयनित 5 स्टेशनों के अलावा अब पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन सहित सीतामढ़ी, दरभंगा, बरौनी, धनबाद स्टेशनों का पुनर्विकास कर उसे विश्वस्तरीय सुविधाओं से युक्त किया जाएगा।

    अभी तक गया, राजेंद्र नगर टर्मिनल, मुजफ्फरपुर, बेगूसराय व सिंगरौली स्टेशनों को वर्ल्ड क्लास स्टेशन के रूप में विकसित करने की पहल शुरू की जा चुकी है। ऐसे में पूर्व मध्य रेलवे के पांच और स्टेशनों के चयन के बाद अब पूर्व मध्य रेलवे कुल 10 स्टेशनों का पुनर्विकास कर उसे अत्याधुनिक विश्वस्तरीय सुविधाओं से युक्त किया जाएगा। बताते चले कि स्टेशनों के पुनर्विकास का कार्य रेल भूमि विकास प्राधिकरण द्वारा किया जाना है।बताते चलें कि स्टेशन पुनर्विकास का मुख्य उद्देश्य यात्रियों को संरक्षा, बेहतर एवं सुखद यात्रा अनुभव तथा विश्वस्तरीय यात्री सुविधाएं प्रदान करना है।स्टेशन को विश्वस्तरीय एवं अत्याधुनिक सुविधा से सुसज्जित करते हुए स्टेशन को ग्रीन बिल्डिंग का रूप दिया जाएगा।जहां वेंटिलेशन आदि की पर्याप्त व्यवस्था होगी। रेलवे के जमीन पर मॉल और मल्टीपर्पस बिल्डिंग बनाया जाएगा।स्टेशन का विकास सौर ऊर्जा, ऊर्जा दक्षता उपकरण और ‘हरित इमारत’ मानकों के अनुसार किया जाएगा।रेल यात्रियों के स्टेशन पर आगमन एवं प्रस्थान के लिए प्रवेश और निकास द्वार ऐसे होंगे। जिससे यात्रियों को भीड़-भाड़ का सामना नहीं करना पड़े। स्टेशन पर एक्सेस कंट्रोल गेट एवं प्रत्येक प्लेटफार्म पर एस्केलेटर एवं लिफ्ट लगाए जाएंगे। ताकि एक प्लेटफार्म से दूसरे प्लेटफार्म पर आने-जाने में यात्रियों को सुविधा हो।यात्रियों को प्रदान की जाने वाली आवश्यक सुविधाओं में खान-पान, वॉशरूम, पीने का पानी, एटीएम, इंटरनेट आदि शामिल होंगे। इससे आम यात्रियों के साथ साथ वरिष्ठ नागरिक भी विशेष रूप से लाभान्वित होंगे। स्टेशनों के पुनर्विकास के क्रम में दिव्यांगजनों के लिए भी सभी सुविधाएं जैसे रैम्प, ब्रेल लिपि इत्यादि प्रदान की जाएंगी ताकि दिव्यांगजन बिना किसी असुविधा के स्वयं भी रेल यात्रा करने में सक्षम हो सके।

    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments