चमकते चांद को टूटा हुआ तारा बना डाला,मुद्दा विहीन हाल ए तमकुहीराज

0
43

कुशीनगर से अनिल राय की रिपोर्ट

श्रीकांत सिंह को छोड किसी के पास बिकास का मुद्दा नही

आजाद पत्र न्यूज
कुशीनगर। वर्तमान समय मे सबकी निगाहें तमकुहीराज विधानसभा पर टिकी हुई है,ये विधानसभा इस लिए भी महत्वपूर्ण है कि कांग्रेस प्रदेश अध्य्क्ष अजय कुमार लल्लू दो बार से विधायक प्रदेश के अध्यक्ष है और हैट्रिक की कोसिस मे है और समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के बीच पर्दे के पीछे गठबंधन की भी आम चर्चा हो रही थी जिसपर अब एक बार फिर उदयनारायण गुप्ता के टिकट कन्फर्म होने के बाद इस तरह की चर्चा पर विराम लग गया है लेकिन कांग्रेस से लल्लू के लिए इस बार राह आसान नही है । समाजवादी से प्रबल दावेदार दो बार के विधायक नंदकिशोर के टिकट कटने की चर्चा पूरे सोशल मीडिया को हिला कर रख दिया बाद मे नंदकिशोर मिश्र ने पार्टी आला कमान के आश्वासन पर पार्टी के आदेश को स्वीकार कर लिया। भाजपा गटबंधन से डॉo असीम कुमार राय पहले तो कमजोर साबित हो रहे थे लेकिन डैमेज को पूरी तरह कंट्रोल कर सीधे लड़ाई मे है कयूकी समाजवादी पार्टी द्वारा जो कभी खुशी कभी ग़म का खेल खेला गया उसमे भी भाजपा मजबूत हुई ,भाजपा के अन्य प्रबल दावेदार विजय राय, डॉ पी के राय, डॉ संध्या मिश्रा, अजय तिवारी जैसे दिग्गजो के साथ आने से भी असीम की सीमा बढ़ रही है, वही कल तक मधुरश्याम राय के सपा से आने से लोहे को लोहा काटने की जो चर्चा थी वो अब ठंडा पड़ गया है, उदयनारायण गुप्ता अब अजय कुमार लल्लू को पूरी तरह से ग्रहण लगा रहे है कयूकि अगर सुमाई समीकरण तमकुहीराज मे काम करता है तो उलटफेर हो सकता है ।
रही महावत की बात तो कोई भी आये कोई फर्क नही पड़ता कयूकी बसपा का वोट पूरी तरह से बिखर चुका है जो फिलहाल तो जुड़ता नही दिख रहा। वही भाजपा से टिकट ना मिल पाने से खफा मान सिंह चौहान , संजय गुप्ता भी अपनी किस्मत आजमा रहे है , आम आदमी पार्टी से संजय राय और डॉ के के गुप्ता भी जनता की अदालत मे अपनी उपस्थिति देकर एक नई पारी की सुरुवात कर चुके है, लेकिन तमकुही बिधानसभा के जितने भी प्रत्याशी चुनावी मैदान मे ताल ठोक रहे है किसी के पास स्थानीय बिकास का मुद्दा नही है
तमकुही बिधानसभा क्षेत्र प्रदेश के सबसे अतिपीछडा क्षेत्र होने देश के आजादी से लेकर आज तक यहा का बिकास किसी भी नेता या सरकार मे नही हुआ
पैतालीस बर्षो से सेवरही से पिपराघाट पखनहा पुल से बेतीया सड़क की माग होती रही है तमकुही बिधानसभा को सबसे तेज गति से बिकास हो सकता है तो वह है तमकुही पिपराघाट पखनहा पुल बेतीया पुल सडक मार्ग जिसको श्रीकांत सिंह पटेल( 331) जदयू बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार के पार्टी से चुनाव मैदान मे कुद गये और अपनी पहली प्राथमिकता तमकुही पिपराघाट पखनहा पुल बेतीया सडक को मुद्दा बना कर तमकुही बिधानसभा (331) जदयू बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमार के पार्टी से किस्मत आजमा रहे है बेतहाशा जनसमर्थन मिलने से सभी पार्टियों के नेताओं मे खलबली मची हुई है
अब किस करवट ऊट बैठता है ये तो वक्त ही गर्भ मे है !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here