More
    Homeजनपदमऊचिकित्सा अधीक्षक ने किया नया पीएचसी गोंठा का निरीक्षण, चिकित्साधिकारी नदारद

    चिकित्सा अधीक्षक ने किया नया पीएचसी गोंठा का निरीक्षण, चिकित्साधिकारी नदारद




    • गोंठा पीएचसी पर बतौर चिकित्साधिकारी अनिल कुमार उमर की है तैनाती
    • चिकित्साधिकारी नदारद, फार्मासिस्ट और वार्डबॉय चलाते हैं ओपीडी
    • सीएमओ ने प्रकरण का लिया संज्ञान, जांच अधिकारी नियुक्त

    पवन उपाध्याय।

    गोंठा। नया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर आज चिकित्सा अधीक्षक डा. फैजान ने औचक निरीक्षण किया। इस दौरान चिकित्साधिकारी डा. अनिल कुमार उमर मौके से नदारद रहे। वहीं बाकी स्टाफ मौके पर मौजूद मिला। अधीक्षक ने हाजिरी रजिस्टर और भ्रमण रजिस्टर का मुआयना किया जिसमे डा. अनिल उमर अनुपस्थित पाए गए। उसके बाद चिकित्सा अधीक्षक डा. फैजान ने उन्हें एपसेंट कर दिया। साथ ही सभी कर्मचारियों की निर्देशित किया कि पीएचसी पर समय से आएं। पब्लिक को स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराएं। साथ ही हिदायत भी दी कि लापरवाही पाए जाने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

    डॉक्टर नदारद, फार्मासिस्ट और वार्डबॉय चलाते हैं ओपीडी

    नया पीएचसी गोंठा में चिकित्साधिकारी की तैनाती है। लेकिन चिकित्साधिकारी के अनुपस्थित रहने पर यहां तैनात फार्मासिस्ट ओपीडी चलाते हैं। एक रुपए की पर्ची पर प्रिस्क्रिप्शन लिखते हैं। लेकिन आज तो राम भरोसे ओपीडी चल रही थी। चिकित्सा अधिकारी तो नदारद थे ही फार्मासिस्ट भी कुछ समय के लिए अस्पताल से बाहर गए और उनका कार्यभार वहां मौजूद वारबॉय सीपी राय ने संभाल लिया। गोंठा गांव के स्थानीय निवासी रोहित के सीने में कई दिनों से दर्द हो रहा था। रोहित अपने नजदीकी अस्पताल यानी नया पीएचसी गोंठा पहुंचे। एक रुपए वाली पर्ची कटाई। उसके बाद पर्ची काट रहे वार्ड बॉय सीपी राय ने रोहित से पूछा क्या तकलीफ है। रोहित ने अपनी तकलीफ बताई। फिर क्या वार्डबॉय ने एक रुपए वाली पर्ची पर डॉक्टर की तरह कलम चला दी। लिख दी दवा और कहा कि जाइए दवा खाइए आराम हो जायेगा। अब बड़ा सवाल ये है कि क्या फार्मासिस्ट और वार्डबॉय के भरोसे चलेगा नया पीएचसी गोंठा? लाखों का पैकेज डकारने वाले चिकित्साधिकारी घर रहकर उठाएंगे तनख्वाह? क्या सब जानकर भी सीएमओ रहेंगे मौन? कई यक्ष प्रश्न है।

    इस दौरान एमएमएस लाल प्रताप सिंह, दीनानाथ यादव, एएनएम कुमुदलता राय, सीपी राय वार्ड बॉय, चौकीदार हमीद, मीरा समेत आशा बहुएं मौजूद रहीं।

    वर्जन-

    नया पीएचसी गोंठा में चिकित्साधिकारी का लगातार अनुपस्थित रहना, सप्ताह भर की हाजिरी एक दिन लगाना, फार्मासिस्ट और वार्डबॉय द्वारा ओपीडी की एक रुपए वाली पर्ची पर दवा लिखने संबंधी प्रकरण पर जांच के लिए जांच अधिकारी नियुक्त कर दिया गया है। जांचोपरांत जो भी तथ्य सामने निकलकर आएगा उसका पर्दाफाश किया जायेगा।

    – एसएन दूबे, सीएमओ, मऊ

    __________________________________________

    डा. फैजान ने वैक्सीनेशन और “एक कदम सुरक्षित मातृत्व की ओर अभियान” की दी जानकारी

    चिकित्सा अधीक्षक डा. फैजान ने वहां मौजूद एएनएम और आशा बहुओं को स्वास्थ्य संबंधी जानकारी दी। उन्होंने आशा बहुओं को निर्देशित किया की सेकेंड डोज छूटा हुआ है उसे जल्द पूरा कराएं। उन्होंने बताया कि 18 से ऊपर की आयु वालों का रेशियो फर्स्ट डोज 103 प्रतिशत जबकि सेकंड डोज 87 प्रतिशत हो चुका है। वहीं 15 से 17 वर्ष की आयु वालों का फर्स्ट डोज 100 प्रतिशत से ऊपर हो चुका है जबकि सेकंड डोज 71 प्रतिशत हो चुका है।

    चिकित्सा अधीक्षक डा. फैजान ने “एक कदम सुरक्षित मातृत्व की ओर अभियान” की जानकारी दी जो 1 मई से 24 मई तक चलेगा। साथ ही उन्होंने बताया कि इस अभियान में छूटे हुए लोगों के लिए 25 मई से 30 मई तक मापअप चलेगा। इस प्रोग्राम में गर्भवती महिलाओं को पहले तीन महीने तक फोलिक एसिड, चौथे से आखिरी 6 महीने तक आयरन फोलिक एसिड, कैल्शियम और अल्बेंडाजोल की एक खुराक 400 एमजी दिया जाएगा।

    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments