More
    Homeजनपद"ज़िन्दगी की तलाश में" गजल संग्रह का दीनानाथ झुनझुनवाला ने किया विमोचन

    “ज़िन्दगी की तलाश में” गजल संग्रह का दीनानाथ झुनझुनवाला ने किया विमोचन

    गजल संग्रह में देश के 17 नामचीन गजलकारों के शामिल हैं गजल

    तारकेश्वर सिंह
    पीडीडीयूनगर। राष्ट्रीय चेतना प्रकाशन द्वारा प्रकाशित साझा गजल संग्रह “ज़िन्दगी की तलाश में” का विमोचन आर्य समाज मंदिर में हुआ।विमोचन समारोह के मुख्य अतिथि प्रसिद्ध साहित्यकार व उद्यमी दीनानाथ झुनझुनवाला व विशिष्ट अतिथि वरिष्ठ साहित्यकार डॉ शैलेंद्र सिंह, वरिष्ठ राजभाषा अधिकारी पीडीडीयू नगर दिनेश चंद्र थे। कार्यक्रम किया अध्यक्षता वरिष्ठ साहित्यकार डॉ० उमेश प्रसाद सिंह ने संयुक्त रूप से किया। इस संग्रह में देश के ख्यातिलब्ध 17 गजलकारों की सात-सात प्रतिनिधि गजलें शामिल है। विमोचन के अवसर पर मुख्य अतिथि ने कहा कि गजल अपने आप में विलक्षण विधा है। पहले की गजलों में महबूब से बात करने या अभिव्यक्त करने का भाव दिखाई पड़ता था। लेकिन अब ग़ज़लों में दुनियाबी बातें दिखाई पड़ती हैं जो इसे जन-जन में लोकप्रिय बनाती हैं। विशिष्ट अतिथि डॉ० शैलेंद्र सिंह ने कहा कि गजल अपने आप में कठिन विधा है। इस विधा में सिद्धस्त लोग अपनी बात बड़े ही रोचक ढंग से कह जाते हैं। गजल सुनना और पढ़ना दोनों ही बहुत अच्छा लगता है। वरिष्ठ राजभाषा अधिकारी दिनेश चंद्र ने कहा कि जनपद चन्दौली की धरती पर शुरू से ही साहित्य की खेती होती रही है। जनपद के साहित्यकार भारी संख्या में जनपद के बाहर अपनी भूमिका अदा कर रहे हैं। राष्ट्रीय चेतना प्रकाशन इसे आगे बढ़ाने का काम कर रहा है। गजल संग्रह के सभी ग़ज़लकारों को उन्होंने बधाई दी। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए डॉ० उमेश प्रसाद सिंह ने कहा कि गजल संग्रह “जिंदगी की तलाश में…” स्थापित ग़ज़लकारो के साथ-साथ नवोदित ग़ज़लकारों को भी शामिल किया है,यह एक अच्छा प्रयोग है। इससे नवोदित ग़ज़लकारों को लिखने की चुनौती मिलेगी।वही स्थापित ग़ज़लकार भी गंभीर लेखन के तरफ अग्रसर होंगे। इसके पूर्व समारोह का शुभारंभ वाराणसी से आईं गायिका सुमन अग्रहरि के गणेश वंदना से हुआ। इसमें बाद उन्होंने एक राष्ट्रभक्ति सोहर व ग़ज़ल भी प्रस्तुत किया। कार्यक्रम में गूगलमीट के माध्यम से विशिष्ट अतिथि एआरटीओ प्रशासन डॉ० दिलीप गुप्ता,मनीष बादल,केशव शरण, शिवकुमार ‘पराग’रामकृष्ण सहस्रबुद्धे,एम अफसर खां आदि भी जुड़े थे। इस मौके पर धर्मेंद्र गुप्त साहिल,रामजी प्रसाद भैरव, दीनानाथ देवेश,एल उमाशंकर सिंह,जुबैर दिलदार नगरी,तारिक मसूद,हरिवंश बवाल,सुरेश अकेला,सुभाष क्षेत्रपाल,इंद्रजीत शर्मा,शमीम मिल्की,विनोद गुप्ता,राजकुमार जायसवाल,रमेश पाल,ओमप्रकाश जायसवाल, सर्वजीत सिंह,अशोक कुमार,सपना पांडेय,रोहित यादव,रिया सिंह,अनिता राय,नैना सिंह सहित भारी संख्या में लोग उपस्थित थे।अतिथियों का स्वागत साझा ग़ज़ल संग्रह के संपादक प्रमोद कुमार सिंह समीर व प्रकाशक विनय कुमार वर्मा ने संयुक्त रूप से किया। संचालन व विषय प्रवेश कार्यक्रम संयोजक डॉ अनिल यादव ने व धन्यवाद ज्ञापन आर्य समाज के प्रधान अरुण कुमार आर्य ने किया।

    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments