More
    Homeजनपदवक्फ सम्पत्तियों को यथाशीघ्र अतिक्रमणमुक्त कराया जाय- सदस्य उत्तर प्रदेश अल्पसंख्यक आयोग

    वक्फ सम्पत्तियों को यथाशीघ्र अतिक्रमणमुक्त कराया जाय- सदस्य उत्तर प्रदेश अल्पसंख्यक आयोग

    वाराणसी। उत्तर प्रदेश अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य हैदर अब्बास चाँद की अध्यक्षता में सोमवार को सर्किट हाऊस में जिला प्रशासन के साथ तथा जनपद के मदरसों के प्रबन्धकों के साथ अरबी फारसी मदरसों की समस्याओं और उनके निराकरण के सम्बन्ध में बैठक हुई

    । बैठक में उन्होंने निर्देशित किया कि राज्य सरकार द्वारा संचालित समस्त योजनाओं में अल्पसंख्यक समुदाय की भागीदारी सुनिश्चित कराई जाय। अल्पसंख्यक समुदाय के साथ किसी प्रकार की उत्पीड़न आदि की कार्यवाही कदापि न की जाय। आने वाले मुहर्रम के त्यौहार पर विशेष ध्यान दिया जाय, किसी भी दशा में त्यौहार मनाने में कोई बाधा न उत्पन्न होने पाये। जनपद में स्थित जिन वक्फ सम्पत्तियों पर अनाधिकृत कब्जे हैं। उन्हें प्राथमिकता के आधार पर नोटिस देकर यथाशीघ्र अतिक्रमणमुक्त कराया जाय। ऐसी वक्फ सम्पत्तियाँ जो विकास योग्य हैं। उनके विकास के लिए प्रस्ताव तैयार कराकर स्वीकृति के लिए वक्फ विकास निगम को उपलब्ध कराया जाय। शादी अनुदान योजनान्तर्गत सरकार द्वारा उपलब्ध करायी गयी शत-प्रतिशत धनराशि पात्र लाभार्थियों में वितरित करायी जाय। यदि धनराशि रहते हुये कोई पात्र अभ्यर्थी लाभान्वित होने से वंचित रह जाता है तो उक्त का सम्पूर्ण उत्तरदायित्व सम्बन्धित अधिकारी का होगा और उसके विरुद्ध कार्यवाही के लिए संस्तुति कर दिया जायेगा।
    टर्मलोन योजनान्तर्गत निर्धारित लक्ष्य के अनुरूप यथाशीघ्र लाभार्थियों का चयन कर उन्हें लाभान्वित कराया जाय। अरबी फारसी मदरसों के प्रबन्धकों एवं प्रधानाचार्यों को निर्देशित किया गया कि वे अपने
    मदरसे में उत्तम श्रेणी की शिक्षा की व्यवस्था सुनिश्चित करें और सरकार द्वारा दी जा रही धनराशि का सदुपयोग करें। अरबी फारसी मदरसों के प्रबन्धक और प्रधानाचार्यों को सदस्य द्वारा आईडी एमआई योजना से अवगत कराते हुये उन्हें इस योजना के अन्तर्गत मदरसों के भवन,कमरों, छात्रावास आदि के निर्माण कराये जाने के लिए जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी के माध्यम से प्रेषित करने के सुझाव देते हुये जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी को निर्देशित किया कि वे जनपद के समस्त ऐसे मदरसे जिनके यहाँ अतिरिक्त कक्षों, छात्रावास, भवन की आवश्यकता है। उन्हें सहयोग प्रदान करते हुये उनके भवन निर्माण के प्रस्ताव तैयार कराकर उक्त प्रस्ताव शासन को प्रेषित करना सुनिश्चित करें।

    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments