रोडवेज परिचालक दिव्यांगों के साथ कर रहे हैं भेदभाव

0
26

रतनपुरा, मऊ। रोडवेज परिचालकों के मनमानी पूर्ण रवैया और भेदभाव के चलते जनपद के दिव्यांग काफी परेशान हाल हैं। रोडवेज परिचालक उनसे परिचय पत्र के साथ-साथ आधार कार्ड तथा अन्य कागजात मांग करके उन्हें परेशान करते हैं तथा अनेक बार तो परिचालक दिव्यांगों को बस में बैठने तक नहीं देते। बताया जाता है कि रतनपुरा प्रखंड के बिलौझा ग्राम पंचायत निवासी ओम प्रकाश बादल दिव्यांग है, और वह पिछले दिनों फेफना से रतनपुरा आने के लिए एक बस में जब सवार हुए तो परिचालक ने उनसे परिचय पत्र मांगा इसके बाद आधार कार्ड मांगने लगा। जबकि दिव्यांगों के प्रमाण पत्र पर पहले ही से आधार कार्ड के नंबर मुद्रित हैं। इसके बावजूद भी परिचालकों द्वारा उनसे अनाप-शनाप के सवाल-जवाब तथा प्रमाण पत्र मांगे जाते हैं, जबकि दिव्यांग ओमप्रकाश बादल ने परिचालक से कहा कि मुझ से किराया ले लो, लेकिन मैं आपके खिलाफ रोडवेज में शिकायत करूंगा। इसके बाद परिचालक अंदर से हिल गया ,और उसने कहा कि ठीक है आप बस में बैठ कर चलिए, लेकिन अगर कोई अधिकारी जांच पड़ताल करेगा तो आप खुद समझ लेना। लेकिन कहीं कोई जांच-पड़ताल नहीं हुई ,और वे रतनपुरा आकर के उतर गए लेकिन परिचालकों के भेदभाव और अपमानजनक रवैया से उन्हें काफी आक्रोश व्याप्त है। ओम प्रकाश बादल ने रोडवेज विभाग के उच्चाधिकारियों से मांग किया है कि वे परिचालकों की नकेल कसे और जितने भी दिव्यांग बस में बैठ कर के आ जा रहे हैं उनके साथ भेदभाव ना बरता जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here