More
    HomeUncategorizedभारत की UNSC के स्‍थायी सदस्‍य की दावेदारी से बेचैन हुआ चीन

    भारत की UNSC के स्‍थायी सदस्‍य की दावेदारी से बेचैन हुआ चीन

    नई दिल्‍ली, स्‍पेशल डेस्‍क। देश की आजादी के बाद ऐसा पहली बार हुआ, जब संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद का भारत अध्‍यक्ष बना। एक अगस्‍त को भारत के पास सुरक्षा परिषद की अध्‍यक्षता मिली। वह पूरे अगस्‍त महीने तक सुरक्षा परिषद का अध्‍यक्ष रहेगा। इसके साथ एक बार फ‍िर से भारत की सुरक्षा परिषद में स्‍थायी सदस्‍यता की दावेदारी ने जोर पकड़ा है। हालांकि, भारत सुरक्षा परिषद का स्‍थायी सदस्‍य बनने के लिए काफी वर्षों से प्रयासरत है। भारत ने इसके लिए जो दावे पेश किए हैं, उसमें भी काफी दम है, लेकिन उसकी इस राह में चीन सबसे बड़ी बाधा है। चीन हर बार अपने वीटो पावर का इस्‍तेमाल कर भारत को स्‍थायी सदस्‍य बनने से रोक देता है। हालांकि, चीन के अलावा फ्रांस, अमेरिका, रूस और ब्रिटेन भारत को सुरक्षा परिषद का स्‍थायी सदस्‍य बनाने पर अपनी सहमति जता चुके हैं।

     नई दिल्‍ली, स्‍पेशल डेस्‍क। देश की आजादी के बाद ऐसा पहली बार हुआ, जब संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद का भारत अध्‍यक्ष बना। एक अगस्‍त को भारत के पास सुरक्षा परिषद की अध्‍यक्षता मिली। वह पूरे अगस्‍त महीने तक सुरक्षा परिषद का अध्‍यक्ष रहेगा। इसके साथ एक बार फ‍िर से भारत की सुरक्षा परिषद में स्‍थायी सदस्‍यता की दावेदारी ने जोर पकड़ा है। हालांकि, भारत सुरक्षा परिषद का स्‍थायी सदस्‍य बनने के लिए काफी वर्षों से प्रयासरत है। भारत ने इसके लिए जो दावे पेश किए हैं, उसमें भी काफी दम है, लेकिन उसकी इस राह में चीन सबसे बड़ी बाधा है। चीन हर बार अपने वीटो पावर का इस्‍तेमाल कर भारत को स्‍थायी सदस्‍य बनने से रोक देता है। हालांकि, चीन के अलावा फ्रांस, अमेरिका, रूस और ब्रिटेन भारत को सुरक्षा परिषद का स्‍थायी सदस्‍य बनाने पर अपनी सहमति जता चुके हैं।

     

    • उन्‍होंने कहा कि चीन और भारत के मध्‍य सीमा विवाद एक बड़ा मुद्दा है। प्रो. पंत ने कहा कि चीन को यह भय सता रहा है कि यदि भारत सुरक्षा परिषद का स्‍थायी सदस्‍य बनता है तो यह बीजिंग के समक्ष एक बड़ी चुनौती होगी। इस बदलाव का असर दक्षिण एशिया और दक्षिण पूर्व एशिया की क्षेत्रीय राजनीति पर पड़ेगा। इससे यहां के सामरिक समीकरण बदल सकते है।
    • उन्‍होंने कहा कि भारत के स्‍थायी सदस्‍य होने पर यही समस्‍या पाकिस्‍तान के समक्ष भी उत्‍पन्‍न होगी। पाकिस्‍तान, भारत का पड़ोसी राष्‍ट्र है। दोनों देशों के बीच आतंकवाद और सीमा विवाद बड़े मुद्दे हैं। इसके अलावा अगर भारत सुरक्षा परिषद का स्‍थायी सदस्‍य बनता है तो इसका असर चीन और पाकिस्‍तान की दोस्‍ती पर भी पड़ेगा।
    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments