More
    HomeUncategorizedबहु प्रतीक्षित नगरपालिका का तैतिस करोड़ का बजट पास

    बहु प्रतीक्षित नगरपालिका का तैतिस करोड़ का बजट पास

    सभासदों के प्रश्न का उत्तर नहीं दे पाए बजट पेश कर रहे लोग

    अहरौरा मिर्जापुर
    नगर पालिका परिषद अहरौरा का बहुप्रतीक्षित बजट लगभग 5 माह बाद सामुदायिक भवन दुर्गा जी में हुई शनिवार को एक बैठक में सभासदों ने पास कर दिया ।
    बैठक में कुछ सभासदों के जिज्ञासाओं को का समाधान बजट पेश करने वाले नहीं कर पाए ।
    नगर पालिका परिषद के सामुदायिक भवन दुर्गा जी में हुई बैठक में 33 करोड़ 74 लाख 40 हजार अनुमानित आय एवं 32 करोड़ 19 लाख 20 हजार अनुमानित व्यय का बजट पालिका अध्यक्ष की तरफ से नगरपालिका के बड़े बाबू ने पेश किया जिसको सभासदों ने बिना बजट पर चर्चा किए ही पास कर दिया ।
    सभासद सिद्धार्थ सिंह ने बजट संबंधी कुछ सवाल किए जिसका जवाब बजट रखने वाला बाबू नहीं दे पाया और इधर उधर की बातें करके उलझाने का प्रयास किया ।
    बता दें कि नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी विनय तिवारी 31 मार्च को अवकाश ग्रहण कर लिए थे इसके बाद नगर पालिका में कोई अधिशासी अधिकारी न होने के कारण वित्तीय वर्ष 2021 2022 का बजट नहीं पास हो पाया था ।जिसके कारण नगरपालिका का विकास कार्य रुका पड़ा हुआ था कुछ दिनों के लिए चुनार नगर पालिका की अधिशासी अधिकारी प्रतिभा सिंह यहां चार्ज पर रही लेकिन उनके कार्यकाल में भी बजट नहीं पास हो पाया अभी पिछले दिनों कछवा के अधिशासी अधिकारी नवनीत सिंह को नगरपालिका अहरौरा का चार्ज दिया गया उनके चार्ज लेने के एक सप्ताह बाद ही नगर पालिका परिषद का बजट पास हुआ ।
    बोर्ड की बैठक में बजट का विरोध कर रहे सभासद सिद्धार्थ सिंह एवं शकील अहमद ने अपना विरोध दर्ज करना चाहा तो पहले उनका विरोध नहीं दर्ज किया जा रहा था लेकिन जब अधिशासी अधिकारी ने हस्तक्षेप किया तो दोनों सभासदों का विरोध दर्ज किया गया ।
    सभासद सिद्धार्थ सिंह का कहना था कि यह बजट नगर के जनता के हित में नहीं है ।
    बजट में मनमाने ढंग से वर्तमान वित्तीय वर्ष में टैक्स लगाने की बात कई गई है जो अनुचित है ।
    सभासद सिद्धार्थ सिंह ने बताया कि भवन भूमि घर दुआरी से वर्ष 20190-2020 में 5 लाख 56 हजार रुपए का आय दिखाया गया है लेकिन वित्तीय वर्ष 2020 – 21 में इस आय को 12 लाख रुपए अनुमानित आय कर दिया गया है ।
    क्या समझ से परे है कि इतना आय कैसे हो जाएगा ।
    इसका मतलब है कि नगर की जनता के ऊपर टैक्स लगाने की तैयारी है ।
    इसी तरह उन्होंने बताया कि जल मुल्य में वित्तीय वर्ष 19 -20 में 5 लाख 36 हजार रुपए है आय है लेकिन वर्तमान वित्तीय वर्ष 2020 -2021 में 12 लाख 60 हजार रुपए अनुमानित आय दर्शाया गया है ।
    यह भी समझ के परे है बजट को देखने से यही लग रहा है कि नगर पालिका की जनता के ऊपर भारी कर लगाने की तैयारी की जा रही है ।
    14 वा 15 वा वित्त में आए धन का हिसाब भी सभासदों को बोर्ड की बैठक में लोग नहीं दे पाए जिससे कुछ सभासद असंतुष्ट दिखाई पड़े ।
    बैठक में नगर पालिका अध्यक्ष , अधिशासी अधिकारी नवनीत सिंह , सभासद कृष्ण कुमार तिवारी ,सिद्धार्थ सिंह ,मोहम्मद शकील, इरशाद आलम, रामचंद्र ,रविकांत, इंदु देवी ,चंचला मिश्रा, सहित लगभग बीस सभासद उपस्थित रहे ।
    वही एक भी नामित सभासद बोर्ड की बैठक में नहीं पहुंचे ।

    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments