More
    HomeUncategorizedनशे के खिलाफ गोरखपुर प्रशासन की मुहिम

    नशे के खिलाफ गोरखपुर प्रशासन की मुहिम

    नेपाल बॉर्डर पर विशेष चौकसी के निर्देश

    गोरखपुर। अवैध मादक पदार्थों की बिक्री पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगाने के लिए पुलिस लाइन वाइट हाउस सभागार में नारकोटिक्स सहित अन्य संबंधित मादक पदार्थों की रोकथाम के लिए प्रदेश व केंद्र सरकार द्वारा बनाई गई टीमों के साथ बैठक कर अवैध मादक पदार्थों की रोकथाम के लिए बनाए गए रणनीतियों के अनुसार काम करते हुए पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगाएं जिलाधिकारी विजय किरन आनंद व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ विपिन ताडा के निर्देशन में एडीएम सिटी राजेश कुमार सिंह पुलिस अधीक्षक अपराध डॉ महेंद्र पाल सिंह संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक कर आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए कहा कि अवैध मादक पदार्थों की बिक्री पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगाएं जिससे  आमदनी को बढ़ाया जाए वाह अवैध मादक पदार्थों का कारोबार करने वाले तस्करों को सलाखों के पीछे भेजा जा सके अभी हाल ही में 3 अगस्त को महाराजगंज जनपद के ठूठीबारि 6 करोड़ 80 लाख का मादक पदार्थ पकड़ा गया था जिसका वास्तविक मूल्य 57 लाख रुपए की थी लेकिन अंतरराष्ट्रीय बाजार में मादक अवैध नशीली दवाइयों की कीमत ₹68000000 आंकी गई थी उसका भी जिक्र  वाइट हाउस सभागार में संबंधित अधिकारियों के समक्ष की गई अधिकारियों को हिदायत दी कि वह अपने दायित्यों का बखूबी निर्वहन करें। तबांकू का सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। मादक पदार्थों का सेवन करने से दूर रहना चाहिए। सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान व तंबाकू उत्पादन का विज्ञापन देना व 18 वर्ष से कम उम्र वाले बच्चों को तंबाकू उत्पादन बेचना अपराध की श्रेणी में आता है। उन्होंने कहा कि शिक्षण संस्थानों व कालेजों के सौ मीटर के दायरे में पान, मसाला व तंबाकू बेचना पूर्णरूप से प्रतिबंधित है। सार्वजनिक स्थल, तहसील, विकास खंड कार्यालय, अस्पताल, रेलवे स्टेशन व न्यायालय परिसर, विकास भवन तथा कलक्ट्रेट समेत प्रमुख चौराहों पर तंबाकू सेवन रोकथाम के लिए चेतावनी व फ्लैक्स बोर्ड लगवाया जाए, ताकि लोगों को मादक पदार्थों से दूर रहने के प्रति जागरूक किया जा सके

    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments