More
    HomeUncategorizedतालिबान की कहानी, शैलेन्द्र की जुबानी

    तालिबान की कहानी, शैलेन्द्र की जुबानी

    गोरखपुर के शैलेन्द्र की हुई सकुशल वापसी

    गोरखपुर। चौरी चौरा इलाके के नई बाजार निवासी शैलेन्द्र शुक्ल सही सलामत अफगानिस्तान से घर आ गए। वायुसेना के विमान से वापस आकर उन्होंने भारत सरकार को धन्यवाद दिया। एक कंपनी में फोरमैन की नौकरी कर रहे शैलेन्द्र ने अफगानिस्तान का अनुभव साझा किया और बेहद भावुक हो गये। उनके मुताबिक काबुल में उन्हें तालिबानियो ने कुछ घंटे के लिए बंधक बना लिया था। हालांकि बाद में उन्होंने उन्हें मुक्त कर दिया। शैलेन्द्र ने कंपनी के मालिक की भी तारीफ की जिसने सभी कर्मचारियों को कंपनी के अंदर ही रखा और खाने पीने से लेकर हर चीज की व्यवस्था की। शैलेन्द्र ने बताया कि हर वक्त मौत सामने खड़ी दिख रही थी। जब भारतीय दूतावास से कंपनी को फोन आया तो कंपनी मालिक ने सभी कर्मचारियों को बस में भरकर एयरपोर्ट भेजा लेकिन वहां भी तालिबानियों ने उन्हें बंधक बना लिया। हालांकि मीडिया में खबरें चलने के बाद उऩका रवैया बदल दिया। और उन्होने फिर सुरक्षित तरीके से सभी को एयरपोर्ट रवाना कर दिया। वायुसेना का विमान उन्हें लेकर सोमवार को पहुंचा जिसके बाद उनकी घर वापसी हुई। शैलेन्द्र के साथ गोरखपुर के दो लोग औऱ आए हैं। अभी भी गोरखपुर मंडल के दो दर्जन से ज्यादा लोग वहां फंसे हुए हैं। फिलहाल शैलेन्द्र के पूरे परिवार में खुशी का माहौल है परिजनों के मुताबिक अब उन्हें कभी भी विदेश नहीं जाने देंगे।

    आपको बता दें कि अफगानिस्तान में फँसे शैलेन्द्र की कहानी मीडिया में खूब चर्चा में रही थी जिसके बाद स्थानीय प्रशासन के लोगों ने पहुंचकर उनके परिवार के लोगों से मुलाकात की और शैलेन्द्र की सुरक्षित वापसी का वादा किया। इसके बाद जिला प्रशासन की ओर से उच्च अधिकारियों को अवगत कराया गया जिसके बाद शैलेन्द्र की सुरक्षित वापसी संभव हो पाई है।

    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments