More
    HomeUncategorizedडीएम हुजूर ! कायाकल्प योजना में प्रधान प्रतिनिधि व सचिव ने हड़पे...

    डीएम हुजूर ! कायाकल्प योजना में प्रधान प्रतिनिधि व सचिव ने हड़पे लाखों

    ● डीएम ने कहा, जांच कर भेजूंगा जेल

    ● सफेद बालू व दोयम दर्जे की इट से कराया गया है दिव्यांग शौचालय का निर्माण

    ● इस पूरे खेल में ब्लॉक से लेकर डीपीआरओ कार्यालय तक सभी है सामिल

    ● जांच हुई तो प्रधान प्रतिनिधि एवं सचिव का जेल जाना तय

    गाजीपुर। बाराचवर ब्लॉक के मुबारकपुर व गोपालपुर ग्राम पंचायत में कायाकल्प योजना में एक बड़ी धांधली सामने आई है। प्रधान प्रतिनिधि बसंत कुमार एवं सचिव पंकज यादव ने दिव्यांग शौचालय निर्माण कार्य में लाखों रुपए की धनराशि हजम कर ली। अगर ग्राम पंचायतों में कराए गए कार्यों की निष्पक्ष जांच करा दी जाए तो प्रधान प्रतिनिधि एवं सचिव का जेल जाना तय है। कायाकल्प योजना के तहत आए सरकारी धनराशि में जमकर बंदरबांट किया गया है। बाराचवर ब्लॉक से लेकर डीपीआरओ कार्यालय तक के लोगों ने खूब मलाई काटी। यहां के एडीओ पंचायत अनिल यादव ने भी प्रधानों एवं सचिवों के साथ मिलकर खूब मलाई काटी। अब इनकी भी गर्दन असावर ग्राम पंचायत में हुए 53 लाख के घोटाले में फंसने वाली है। जल्द ही डीएम के जांच में इस ब्लॉक के कई प्रधान एवं सचिव सलाखों के पीछे होंगे। ग्राम प्रधान प्रतिनिधि बसंत यादव कुमार एवं सचिव पंकज यादव के द्वारा कायाकल्प योजना के तहत बनाए गए विकलांग शौचालय में सफेद बालू एवं दोयम दर्जे की ईट का प्रयोग किया गया है।

    इस ब्लॉक में जब से सचिव पंकज यादव तैनात है तब से यहां भ्रष्टाचार काफी बढ़ गया है। सूत्रों की माने तो सचिव पंकज यादव झूठ बोलने एवं सरकारी धनराशि में खेल करने में काफी माहिर है। घोटाले की जानकारी होते ही जब मीडिया ने दोनों ग्राम पंचायतों का पड़ताल किया तो खुलेआम सफेद बालू व दोयम दर्जे की ईट से शौचालय के दीवार को तेजी से जोड़ा जा रहा था। जब विद्यालय के गेट पर मीडिया कर्मी पहुंचे तो वहां मौजूद अध्यापक व प्रधान प्रतिनिधि के द्वारा मीडिया कर्मियों से धक्का-मुक्की तथा गेट से बाहर निकलने की धमकी देने लगे। क्योंकि अंदर तो घोटाले की खेल हो रही थी तो भला मीडिया कर्मी वहां जाते कैसे, घोटाले की सारी भेद खुल जाती। लेकिन उन घोटाले बाजों को यह नहीं पता कि मीडिया ने पहले ही उनके सारे करतूतों को कैमरे में कैद कर लिया। और घोटाले का पर्दाफाश कर दिया।

    जब मीडिया ने प्रधान प्रतिनिधि को फोन कर शौचालय में घोटाले की बात कही तो तो प्रधान प्रतिनिधि भड़क गए, उन्होंने सफाई पेश करते हुए कहा कि ये बालू और ईट हमारे यहां का है ही नहीं। लेकिन प्रधान प्रतिनिधि को यह नहीं पता था कि उनके सारे करतूतों को मीडिया ने अपने कैमरे में कैद कर लिया है। उन्होंने अपने सारे आरोपों को मीडिया के ऊपर मढ़ दिया। प्रधान प्रतिनिधि व सचिव ने लाखों का घोटाला किया है। अब इनकी भी गर्दन कायाकल्प योजना में फसने वाली है। अब सचिव एवं प्रधान प्रतिनिधि की पोल खुलते ही सबकी बेचैनी बढ़ गई है, सभी परेशान हैं। क्योंकि डीएम के कानों घोटाले की खबर पहुंच चुकी है। और वह पहले ही निर्देशित कर चुके हैं कि सरकारी धन में गड़बड़ी करने वालों को किसी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा। उन्हें हर हाल में जेल भेजा जाएगा। सरकारी धनराशि के खेल में बाराचवर ब्लॉक अव्वल रहा है। यहां पर प्रधान प्रतिनिधि एवं सचिव ने खूब डकारा, और अफसरों को भी खूब खिलाया। यहां के सचिव पंकज यादव पूरे ब्लॉक में चर्चित है। इन्हीं के इशारे पर पूरा खेल खेला गया है।

    सरकारी धनराशि में गड़बड़ी करने वाले जाएंगे जेल : डीएम

    डीएम मंगला प्रसाद सिंह ने कहा कि सरकारी धनराशि में गड़बड़ी करने वालों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा, उन्हें हर हाल में जेल भेजा जाएगा। जो भी खरीदारी होनी है जन पोर्टल के माध्यम से खरीदारी होनी है और ई टेंडरिंग के माध्यम से कार्य होगी। ये नियम पूरे जिले में मैंने लागू कर रखी है। अगर मुबारकपुर व गोपालपुर में प्रधान प्रतिनिधि एवं सचिव के द्वारा सरकारी धनराशि में गड़बड़ी किया गया होगा तो, जांच कर उसे सीधा जेल भेजूंगा। डीएम के इस कार्रवाई से भ्रष्टाचारियों में दहशत का माहौल है। अभी हाल में ही कई सचिवों पर मुकदमा और कईयों को जेल भेज चुके हैं। अब डीएम की कार्रवाई की तलवार जल्द ही प्रधान प्रतिनिधि बसंत कुमार व सचिव पंकज यादव पर लटकने वाली है।

    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments