More
    Homeजनपदजिला चिकित्सालय खुद बिमार है, यहां के डाक्टर अपराधियों जैसा व्यवहार करते...

    जिला चिकित्सालय खुद बिमार है, यहां के डाक्टर अपराधियों जैसा व्यवहार करते हैं- सपा प्रवक्ता राजीव राय

    मऊ – विगत दिनों जिला चिकित्सालय मऊ में रोड एक्सीडेंट में घायल मरीज गोविंद राजभर के इलाज में लापरवाही करने पर उनके परिजनों द्वारा डॉक्टर से सवाल पूछे जाने पर भड़के डॉ अरुण कुमार गुप्ता ने मरीज के परिजनों को भद्दी भद्दी गालियां दी। बताते चलें कि इसको लेकर जब जिला अस्पताल में बवाल खड़ा हुआ, तो कवरेज करने गए मीडिया को भी डॉक्टर ने खुलेआम गाली दी। बताया जाता है कि उक्त डॉक्टर वर्तमान भाजपा जिला अध्यक्ष का भाई है। तथा शहर में एक निजी अस्पताल चलाता है। चुंकी डॉक्टर के खराब व्यवहार से कोई मरीज उनके निजी अस्पताल में उनको दिखाना नहीं चाहता है। इसलिए डाक्टर अरुण कुमार गुप्ता अपने भाजपा जिलाध्यक्ष भाई से जुगाड लगवाकर सरकारी अस्पताल में संविदा पर नौकरी कर लिया और सरकारी अस्पताल में अपना एक नीजी एंबुलेंस रखा है। जिसका एंंसोरेश भी वर्तमान में फेल है। जिससे वह मरीजों को जिला अस्पताल से जबरदस्ती अपने निजी अस्पताल में रेफर करता है। यही कारण है कि जब घायल गोविंद राजभर के परिजनों ने कहा कि मैं अब अपने मरीज को वाराणसी ले जाऊंगा तो डॉक्टर भड़क गए और विवाद गाली गलौज तक पहुंच गया। बताते हैं कि डाक्टर के नीजी अस्पताल सिद्धी विनायक में मरीजों का अभाव रहता है, जबकि उससे सटे एक निजी अस्पताल में भारी भीड़ रहती है। यही कारण है कि नेता जी के इशारे पर विगत दिनों इस अस्पताल में कोई न कोई कमी निकालकर प्रशासन द्वारा इसको सील करवाया गया था।बाद में भाजपा नेता से मोर्चा लेते हुए हिंदू युवा वाहिनी के नेताओं ने उक्त हास्पीटल को खुलवा दिया। इस संबंध में भाजपा जिलाध्यक्ष प्रवीण कुमार गुप्ता ने अपने डॉक्टर भाई द्वारा हुए दुर्व्यवहार पर खेद प्रकट किया है।
    डॉ अरुण कुमार गुप्ता के द्वारा मरीजों और मीडिया के साथ किए गए दुर्व्यवहार पर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजीव राय ने क्या कुछ कहा आइए सुनते हैं!

    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments