जिलाधिकारी ने जनता दर्शन में फरियादियों की सुनी समस्यायें

0
20

रिपोर्टर-अमिताभ रावत बारी

प्रकरणों का निस्तारण समयबद्धता के साथ किया जाना अनिवार्य

जनता दर्शन में 32 मामले आए, जिसके निस्तारण हेतु संबंधित अधिकारियों को दिए निर्देश

जनता दर्शन में जन समस्याओं के निस्तारण के लिए उपस्थित रहते है विभिन्न विभागो के अधिकारी/कर्मचारी

एसडीएम व मजिस्ट्रेट स्तर के अधिकारी समस्याओं के निस्तारण के लिए रहते है मौजूद

एक-एक समस्याओं की सुनवायी उपरान्त उसका कराया जाता है समाधान

सभी अधिकारी निर्धारित समय में कार्यालयों में रहे उपस्थित, समस्याओं की सुनवायी एवं उसका समाधान प्राथमिकता के साथ करें सुनिश्चित

देवरिया। जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन कलक्ट्रेट कार्यकक्ष में जनता दर्शन के दौरान आने वाले प्रत्येक फरियादियों की समस्याओं की गहनता से सुनवायी किए तथा उसके समयक समाधान के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। उन्होने कहा कि जन समस्याओं का त्वरित निस्तारण एवं आईजीआरएस में आने वाले सभी प्रकरणों का प्राथमिकता के साथ निस्तारण करना अनिवार्य है। सभी अधिकारी शिकायती प्रकरणों/समस्याओं का निस्तारण प्राथमिकता के साथ सुनिश्चित करेगें। इसमें किसी भी प्रकार की कोताही कदापि नही बरतेगें।
जिलाधिकारी श्री निरंजन ने आज इस दौरान कुल 32 प्रकरणों की सुनवायी किए एवं उसके समाधान के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किए, जो उन्हे समयबद्धता के साथ निस्तारण हेतु सौपा गया। उन्होने जनता दर्शन में जन समस्याओं की सुनवायी के लिए अपनायी गयी व्यवस्थाओं के परिप्रेक्ष्य में बताया कि आमजन की समस्याओं की सुनवायी जनता दर्शन में सुचारु रुप से हो, इसके लिए विभागो के अधिकारियों/कर्मियों की भी उपस्थिति रखी जाती है, जिससे कि उनके विभाग से संबंधित समस्याओं की वास्तविकता की जानकारी करते हुए उसका निराकरण कराया जा सके। उन्होने यह भी कहा कि फरियादियों को उनके डिमाण्ड अनुसार आवेदन पत्र पर निर्देश उपरान्त उन्हे निःशुल्क छायाप्रति भी दिए जाने के निर्देश दिए गए हैं, जिससे कि फरियादी अपने प्रकरणों के समाधान की स्थिति से अवगत होते हुए उसमें पहल कर सके।
जिलाधिकारी ने यह भी बताया कि जनता दर्शन में एसडीएम/मजिस्ट्रेट स्तर के अधिकारी भी नामित किए गए हैं, जो उपस्थित रह कर समस्याओं की सुनवायी करते व उसका समाधान उनके द्वारा भी किया जाता है। उन्होने कहा कि जनता दर्शन में आने वाले हर फरियादी की समस्या सुनना व उसका निस्तारण करना जिला प्रशासन की प्राथमिकता है। उन्होने यह भी कहा कि सभी विभाग के अधिकारियों को भी निर्देश दिया गया है कि निर्धारित समय में अपने कार्यालय में उपस्थित रहते हुए आने वाले प्रत्येक फरियादी के समस्या की सुनवायी करें और उसका निराकरण भी करें। उन्होने कहा कि किसी भी फरियादी को अपनी समस्याओं को लेकर कही भटकना न पडे, इस पर विशेष रुप से ध्यान देते हुए अधिकारी हर समस्या की सुनवायी समाधान सुनिश्चित करेगें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here