More
    Homeराजनीतिजमीनी राजनीतिक सामाजिक कार्यकर्ताओं की दशा व दिशा पर हुआ खुला विचार...

    जमीनी राजनीतिक सामाजिक कार्यकर्ताओं की दशा व दिशा पर हुआ खुला विचार विमर्श

    शमीम मिल्की के सियासी सफ़र का पचास वर्ष पूरा होने पर मनाया गया गोल्डन जुबली वर्ष

    तारकेश्वर सिंह इसी
    चंदौली। वरिष्ठ नेता व सामाजिक कार्यकर्ता शमीम अहमद मिल्की का राजनीतिक सफ़र पचास साल पूरा होने पर 9 अगस्त की पूर्व संध्या पर रविवार को मुगलसराय स्थित अग्रवाल सेवा संस्थान में गोल्डन जुबली (खुला विचार विमर्श) कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में सभी पार्टियों के नेता व कार्यकर्ता मौजूद रहे। बताते चले कि अपने तेवर के लिए चर्चित नेता शमीम अहमद मिल्की का राजनीतिक सफ़र पचास साल पूरा हो चुका है। समाजवादी आंदोलन के शीर्षस्थ नेताओं डॉ लोहिया, जय प्रकाश नारायण, आचार्य नरेंद्र देव, कर्पूरी ठाकुर आदि पदचिन्ह पर चलने वाले, अन्याय के विरुद्ध आवाज उठाने वाले देश के अग्रणी नेताओं वीपी सिंह, राजनारायण चौधरी चरण सिंह, चंद्रशेखर, मधु लिमये, जार्ज फर्नांडिस जैसे प्रमुख व्यक्तियों के सानिध्य में राजनीति का कहकरा सीखने वाले इन दो नेताओं में शमीम मिल्की और हरबंश सिंह का जन समस्याओं के प्रति संवेदनशीलता ही इनके व्यक्तित्व के जुझारूपन का प्रतीक बन गया। दोनों नेताओं का सामाजिक व राजनीतिक सरोकार आज उनकी उम्र की आखिरी पड़ाव पर पूरी सिद्दत के साथ कायम है। 1972 से अपने विद्यार्थी जीवन से ही रामनगर में पथकर माफी आंदोलन में दोनों ने बहादुरी के साथ जुझारू नेता यदुनाथ सिंह पूर्व विधायक के साथ मिलकर पथकर माफी करने का बहुत बड़ा काम किया। रामनगर के पी. एन. कॉलेज में माफी आंदोलन कर दोनों ने अपने नेता यदुनाथ सिंह साथ छात्रों का फीस माफ कराया। हरिवंश सिंह अपने छात्र जीवन में भारत बंद आंदोलन में हिस्सा लेने के कारण एक महीना जेल की सजा काटनी पड़ी थी। सन 1974 में ऑल इंडिया रेलवे स्ट्राइक जो जॉर्ज फर्नांडिस के नेतृत्व में हुई, उसमें हरिवंश सिंह को हिस्सा लेने के कारण 1 महीने तन्हाई जेल में रहना पड़ा। 25 जून 1975 की आपातकाल इमरजेंसी मैं हरिवंश सिंह 18 महीने जेल में रहे वहां उन्हें बहुत प्रताड़ित किया गया। उन्हें पत्नी और बच्चों से नहीं मिलने दिया गया। इस दौरान छात्र सरदार सतनाम सिंह को भी जेल में डाल दिया गया। तब शमीम मिल्की ने भूमिगत रहकर आंदोलन चलाया। बसंत पेपर मिल में बेरोजगारों के सवाल पर प्रदर्शन हुआ जिसमें स्वर्गी यदुनाथ सिंह, हरिवंश सिंह, शमीम मिल्की, सरदार सतनाम सिंह, इंद्रजीत शर्मा, शकुंतला यादव की गिरफ्तारी हुई थी। सन 1985 में नगर पालिका इंटर कॉलेज मुगलसराय में छात्रों को प्रवेश को लेकर हुए आंदोलन में पुलिस ने लाठीचार्ज शुरू कर दिया। जिसमें हरिवंश सिंह, शकुंतला यादव, इंद्रजीत शर्मा, मजहर इकबाल (दिवंगत) को गिरफ्तार कर जेल में डाल दिया। इसके अतिरिक्त अनेको आंदोलनों में हरिवंश सिंह, शमीम मिल्की एवं सरदार सतनाम सिंह ने नेतृत्व किया। जैसे राम नगर शंकर हत्याकांड, पुलिस परिषद का आंदोलन, चंधासी में भूरेलाल डीएम के समय छापेमारी पर आंदोलन, मुंबई बंदरगाह पर विदेशी गेहूं आयात पर आंदोलन, मुगलसराय में फायर ब्रिगेड कांड जिसमे ट्रक द्वारा छात्र को कुचल देने पर उभरे जन आंदोलन में इन्हें पकड़ने के लिए इनाम घोषित किया था। इनके साथ इंद्रजीत शर्मा, क्यामुद्दीन अंसारी, शकुंतला यादव तथा मेवा लाल गुप्ता, राजकुमार गुप्ता एडवोकेट आदि लोगों ने अहम भूमिका निभाई। मिर्जापुर में बहुत बड़ा किसानों का आंदोलन हुआ जिसमें यदुनाथ सिंह, शमीम मिल्की, बजरंगी कुशवाहा गिरफ्तार किए गए। इसके अतिरिक्त ही इन लोगों ने छोटे-बड़े अनेक आंदोलन का नेतृत्व किया। दोनों नेता आंदोलनों और संघर्ष के पर्याप्त माने जाते रहे। जनता के सवालों पर लड़ना इनके रोजमर्रा का जीवन हो गया। इनके संघर्षों के तेवर को जनता आज भी याद करती है। इनके ऊपर कोई भ्रष्टाचार का आरोप नहीं लगा है। आज राजनैतिक में उभरते हुए नौजवानों को उनके संघर्षों से सीख लेनी चाहिए। यह लोग आज भी प्रासंगिक हैं। कुछ साथियों अरविंद सिंह पूर्व एमएलसी, तिलकधारी बिंद, वंशलोचन सिंह, महेंद्र चौहान, क्यामुद्दीन अंसारी, मेवालाल गुप्ता आदि ने इनको तथा अन्य लोगों को सम्मानित करने का जो आयोजन किया है वह निश्चित रूप से सराहनीय है। इस मौके पर पूर्व सांसद डॉ राजेश मिश्रा, पूर्व सांसद रामकिशुन यादव, पूर्व विधायक बब्बन सिंह चौहान, डॉ सुबेदार सिंह, संजय सिंह, खुर्शीद प्रधान, क्यामुद्दीन अंसारी, नवाज अहमद, वरिष्ठ पत्रकार असद कमाल लारी, प्रदीप गुप्ता, कुंवर सुरेश सिंह,पूर्व ब्लाक प्रमुख हलीम अहमद, वसीम अहमद कादरी, सरवर अली, सद्दाम हुसैन, स्वतंत्रता सेनानी सतनाम सिंह, अकरम अली, विजय नारायण सिंह, गुलसेर अहमद, एड. महेंद्र यादव सहित सैकड़ों लोग उपस्थित थे।कार्यक्रम का संचालन प्रदीप गुप्ता ने किया।

    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments