More
    Homeजनपदकिसानों को समय से पानी नहीं मिला तो होगें आंदोलन के लिये...

    किसानों को समय से पानी नहीं मिला तो होगें आंदोलन के लिये बाध्य

    साफ सफाई नही होने से नहरों में उगे झाड़ झंखाड़ –दिनेश सिंह

    उमेश दूबे
    नियामताबाद।नियामतबाद विकास क्षेत्र के पचोखर, शिवनाथपुर ,चंदाईत, हसनपुर कम्हरिया,गोपलापुर , सिकंदरपुर, बुधवार,सहित दर्जनों गांवो के किसान इस समय जोंगवा नहर में पानी नहीं होने के कारण चिंतित नजर आ रहे हैं। नहर में पानी नहीं होने से धान की रोपी गयी फसले सूखने के कगार पर पहुंच गई है। बताया जाता है कि नारायणपुर स्थित गंगा पंप कैनाल से जोगवा बुधवार माइनर के द्वारा क्षेत्र के दर्जनों गांवों सैकड़ों बीघा खेत की सिंचाई होती है। परंतु इन दिनों नहर की साफ सफाई नहीं होने के कारण खेत तक पानी नहीं पहुंच पा रहा है। इससे सिंचाई व्यवस्था बाधित हो रही है।किसानों का कहना है कि एक तरफ प्रकृति की मार दूसरी तरफ नहर में पानी नहीं होने से धान की फस सूखने के कगार पर पहुंच गए हैं। सिचाई विभाग द्वारा नहर की साफ सफाई के लिए व्यवस्था की गई थी। परंतु ठेकेदार द्वारा केवल अपने कार्यों का कोरम पूरा किया गया। जिससे घास फूस ज्यों के त्यों रह गए हैं। इस संबंध में किसानों का कहना है कि उच्चाधिकारियों से बार-बार गुहार लगाने के बावजूद भी नहर की साफ सफाई नहीं कराई जा रही है। नहर की साफ-सफाई न होने से किसान चिंतित नजर आ रहे हैं ग्रामीणों का कहना है कि यदि शीघ्र हम लोगों को पानी नहीं मिला तो हम लोग आंदोलन के लिए बाध्य होगे। पचोखर के किसानों ने बताया कि की नहर की साफ-सफाई उचित ढंग से नहीं हो पाने से नहर में घास फूस हो गए हैं। इस कारण पानी इधर-उधर व्यर्थ चला जा रहा है। वहीं ठेकेदार द्वारा विभाग की मिलीभगत के कारण सफाई व्यवस्था का केवल कोरम पूरा गया किया गया है ।विरोध प्रकट करने वाले किसानों में दिनेश सिंह, नागेंद्र सिंह, पंकज सिंह, संजय तिवारी, पवन यादव, जसवंत यादव, भिखारी बिन्द आदि लोग प्रमुख रहे।

    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments