More
    Homeजनपदउत्तर प्रदेश सरकार के मंसूबों पर फेरा जा रहा है पानी

    उत्तर प्रदेश सरकार के मंसूबों पर फेरा जा रहा है पानी

    कैसरगंज/बहराइच जनपद के कैसरगंज थाना क्षेत्र के अंतर्गत बरखुरद्वारापुर चौराहे पर विक्रम पिक्चर पैलेस के पास छुटा जानवर से जोरदार टक्कर हो गयी जिसमें मोटरसाइकिल वाहन से अपने घर जा रहे रिंकू सोनी पुत्र राम कुमार सोनी को मामूली चोट आई है।

    जिसके बाद सूचना पर पहुंचे लोगों की मदद से जी एम हॉस्पिटल पर पहुंचाया गया जहां पर जी एम हॉस्पिटल के निदेशक डॉ योगेश प्रताप सिंह ने चोटिल व्यक्ति का प्राथमिकी उपचार के बाद घर पर आराम करने की सलाह दी है।

    हालांकि चोटिल के बहनोई वीरेंद्र सोनी से बातचीत के दौरान यह जानकारी प्राप्त हुई कि मामूली चोटें आई हैं। उन्होंने यह भी बताया कि चोटिल रिंकू सोनी कैसरगंज से अपने घर कुंडासर जा रहे थे।कि अचानक एकाएक छुट्टा जानवर आ जाने के कारण इनको चोट आई है। हाँलाकी शांति व्यवस्था बनी हुई है।

    वहीं पर मौजूद अन्य लोगों के द्वारा यह भी बताया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के विचारों पर कुछ भ्रष्ट अधिकारियों व कर्मचारियों के द्वारा पानी फेरने का कार्य किया जा रहा है

    जैसा कि उन्होंने बताया कि पास के ही विजयपुर गांव में स्थित गौशाला बना हुआ है जिसके चलते लोगों को घर से बेघर भी होना पड़ा वह गौशाला वर्तमान समय में बहुत ही दर्दनीय है

    जबकि उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा वहां पर बहुत सारी परियोजनाओं के तहत व्यवस्थाएं छुट्टा जानवरों के लिए कराई गई थी लेकिन वहां की स्थिति यह है।कि टिनसेट,चरनी आदि तो बना हुआ है। परंतु जमीनी हकीकत यह है कि वहां पर ना तो कोई जानवर है और ना ही जानवरों की देखरेख करने के लिए कर्मचारी जिसके चलते आसपास इलाका जिसमें सराय कन्हार,विजयपुर, देवलखा,चकपिहानि, छोटी पुरवा, कडसर बिटौरा, बरखुरद्वारापुर सहित आदि स्थानों के किसानों को भारी समस्याओं का सामना करना पड़ता है दिन-रात मेहनत करके अपनी-अपनी फसलों की रखवाली करके किसी प्रकार से लोगों के खाने के लिए अनाज उगाने को मजबूर है। जिसके बाद छुटा जानवर चर जाते हैं। या फिर उनके अनाज का सही उचित मूल्य रुपया नहीं मिलता है ऐसे समय में किसानों के दिल पर क्या गुजरती है यह तो ईश्वर ही जानता होगा जिसका कई बार राजनैतिक ब पोटिकल पार्टियों के द्वारा ज्ञापन के माध्यम से भरजोर विरोध भी जताया जा चुका है।

    वही आपको बताते चलें कि उपरोक्त गौशाला में जानवर व कर्मचारी ना होने के कारण उपरोक्त गौशाले का गेट भी टूटा हुआ है।

    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments