More
    Homeजनपदआवास की आस लगाए ग्रामीण साहब फरमाएं एसी रूम फुल यकीन

    आवास की आस लगाए ग्रामीण साहब फरमाएं एसी रूम फुल यकीन

    मनमोहन तिवारी

    (बहराइच)।तेजवापुर के अंतर्गत रामगढी़ पट्टी में आवास योजना के आवंटन में बडे़ पैमाने पर धाधंली की गई है।गरीब अब भी किसी तरह अपनी फूस के छप्पर में गुजर-बसर करने को मजबूर है कई बार जांच भी की गई लेकिन नतीजा कुछ नहीं निकला क्योंकि कहावत कहते हैं बरसेगा सब कहीं लेकिन गिरेगा वारौनी के नीच ।

    गरीब ननकऊ पाठक ने अपने आवास के लिए बीडीओ से लेकर मुख्यमंत्री को प्रार्थना पत्र देकर आवास न मिलने पर शिकायत की है। और ननकऊ ने बताया कि 2012 की लिस्ट में 88 नम्बर पर नाम था लेकिन तब भी मुझे आवास नही मिला।कई सालों से आवास के लिए दर-दर भटक रहे है।लगातार प्रार्थना पत्र दे रहे है लेकिन अभी तक कोई सुनवाई नही हुई है।रविवार को फिर जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत की है और ननकऊ ने बताया है कि पहले आकर मेरे यहां जांच की जाय अगर मैं पात्र हू तो हमे आवास मिलना चाहिए अगर नहीं हू तो हमें आवास नहीं चाहिऐ। अंधेर नगरी चौपट राजा टके सेर भाजी टके सेर खाजा अब यह कहना बिल्कुल सही होगा आखिरकार क्या है क्यों उच्च अधिकारी नहीं लेते इस मामले को समझाना इंसान हर तरफ लुटता ही लुटता है साहब कहीं बारिश की मार तो कहीं अधिकारी कर्मचारियों की बौछार। आखिरकार क्या उत्तर प्रदेश में योगी सरकार में सिर्फ झूठे दावे ही किए जाते हैं क्योंकि 2022 में सब को पक्के मकान तो दिए जाएंगे लेकिन शायद सिर्फ यह अमीरों के लिए योजना लागू की गई है क्योंकि जो पात्र है उसे सेक्रेटरी प्रधान आदि जो भी कर्मचारी होते हैं उनकी मिलीभगत से पहले तो पैसे की मांग की जाती है जब गरीब व्यक्ति पैसा दे पाने में सक्षम नहीं होता है तो उसका आवास से नाम काट दिया जाता है और फिर वह दर-दर की ठोकरें खाने के लिए साहबों के दरवाजे खटखटाने लगता है लेकिन वहां भी उसकी फरियाद नहीं सुनी जाती अंधे बहरों की नगरी में ना कोई देखने वाला है और ना ही कोई सुनने वाला है क्या कोई आएगा नया फरिश्ता बनकर या फिर इसी प्रकार से गरीब सिर्फ आस लगाए ही बैठा रहेगा क्या तोड़ दी जाएगी इसकी आस या फिर मिलेगा एक नई विश्वास के साथ आवास क्या इनके बच्चों को मिल पाएंगे खुशियां या फिर यह भी योगी सरकार के खिलाफ नफरत के बीज बो देंगे अपने अंदर।

    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments