More
    Homeअपराधआरोपी को पकड़ने की बजाय पीड़ितों को ही करंट देकर टॉर्चर करती...

    आरोपी को पकड़ने की बजाय पीड़ितों को ही करंट देकर टॉर्चर करती है कुशीनगर की पुलिस

    कुशीनगर : एक तरफ सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ महिला सुरक्षा और सम्मान की बात करते हैं तो वहीं दूसरी तरफ कुशीनगर की तरयासुजान पुलिस पीड़ित महिलाओं को टॉर्चर करती है। 302 के मुलजिम को गिरफ्तार करने में कोसों दूर है लेकिन महिलाओं को टॉर्चर करने में तरयासुजान पुलिस अव्वल आ रही है। जिले में हुई एक हत्या के मामले में घटना के लगभग 20 दिन बाद भी तरयासुजान पुलिस के हाथों की पकड़ दे कोसों दूर है।

    मिली जानकारी के अनुसार जिले के तरयासुजान थानाक्षेत्र के चखनी खास में हुए हत्या के मामले में पुलिस ने धारा 302 के तहत मुकदमा तो दर्ज कर लिया लेकिन अब तक आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर पायी, इस घटना को लगभग 22 दिन होने जा रहे हैं लेकिन आरोपी अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। इस मामले में पीड़ित परिवार ने तरयासुजान पुलिस तथा एसओ तरयासुजान कपिलदेव चौधरी पर एक गम्भीर आरोप लगाते हुए कहा है कि तरयासुजान थाने की पुलिस द्वारा आरोपी को पकड़ने की बजाय उल्टे हमें ही टॉर्चर किया जा रहा है, इतना ही नहीं पीड़ितों ने आरोप एसओ कपिलदेव चौधरी पर यह आरोप लगाया है कि एसओ द्वारा हमारे परिवार की महिला से बयान बदलवाने के लिए बुरी तरह मारा पीटा गया है और उनको करंट भी दिया गया हौ, जिसकी वजह से उन्हें गम्भीर हालात में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां पुलिस की पिटायी से घायल हुई महिला का इलाज चल रहा है।

    प्राप्त जानकारी के मुताबिक स्थानीय थानाक्षेत्र के चखनी खास निवासिनी इसरावती देवी, उमा देवी ने थानाध्यक्ष तरयासुजान को एक प्रार्थना पत्र देकर यह बताया था कि उनके श्वसुर रमाशंकर चौहान की मानसिक संतुलन ठीक नहीं है और इसी का फायदा उठाकर गांव के ही दिनेश चौहान ने उनकी जमीन को आपमे नाम से बैनामा करवा लिया, इसकी जानकारी होने पर रमाशंकर चौहान के बड़े पुत्र जब दिनेश के यहां बैनामा का पैसा मांगने गए तो दिनेश और अन्य ने मिलकर उसका गला दबाकर हत्या कर दी, इस मामले में पुलिस ने तहरीर के आधार पर दिनेश के विरुद्ध हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया लेकिन आजतक पुलिस उसे गिरफ्तार नहीं कर पायी। दूसरी तरफ पीड़ित परिवार को ही टॉर्चर करके बयान बदलवाने की कोशिश की जा रही है, ऐसा भी आरोप पीड़िता के देवर ने तरयासुजान पुलिस पर लगाया है, उसने आरोप लगाया है कि तरयासुजान थाने की पुलिस मेरी भाभी का हाथ बांधकर उन्हें मारा गया है और उन्हें करंट देकर बयान बदलने का दबाव बनाया गया, इस दौरान पुलिस की बेरहम पिटायी से घायल हुई उमा देवी का इलाज रविंद्रनगर धुस स्थित जिला अस्पताल में चल रहा है।

    विदित हो कि एक तरफ सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा मिशन शक्ति, महिला सुरक्षा और सम्मान जागरूकता अभियान चालय जा रहा है और दूसरी तरफ कुशीनगर के तरयासुजान थानाक्षेत्र की पुलिस द्वारा महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार का मामला सुनकर, सरकार द्वारा चलाये जा रहे महिला सुरक्षा और सम्मान अभियान को पलीता लगाने का काम किया जा रहा है।

    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    - Advertisment -

    Most Popular

    Recent Comments